हिंदू धर्म का ग़लत प्रचार करने वाले 271 लोगों के ख़िलाफ़ एफआईआर


लखनऊ। जौनपुर में हिंदू धर्म को लेकर ग़लत प्रचार और लोगों को लालच देकर ईसाई धर्म अपनाने के आरोप में कोर्ट ने 271 लोगों के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है।

इन 271 लोगों में ज़िले के तीन पादरी हैं, बाकियों को इनका अनाम सहयोगी बताया गया है. कोर्ट ने प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ता की याचिका पर दिया है। याचिकाकर्ता ब्रजेश सिंह ने आरोप लगाया था कि जौनपुर, आज़मगढ़, वाराणसी और गाज़ीपुर ज़िले में लोगों को पिछले कुछ सालों से बालदेह गांव में चर्च की प्रार्थना में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

आरोप है कि चर्च में प्रत्येक रविवार और मंगलवार की प्रार्थना के बाद उन्हें हिंदू धर्म के बारे में ग़लत बातें बताई जातीं और ईसाई धर्म को अपनाने के लिए कहा जाता है। एफ़आईआर में कहा गया है कि चर्च में पूजा के बाद अभियुक्त उन्हें नशे की प्रतिबंधित दवाइयां देते हैं और इसी दौरान उनका धर्म परिवर्तन कर उन्हें ईसाई बनाया जाता है। ब्रजेश सिंह ने एफ़आईआर दर्ज करवाने के लिए दो अगस्त को कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, इसके बाद कोर्ट ने 31 अगस्त को मामले में एफ़आईआर दर्ज कराने के आदेश दिए।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper