आईपीएस के ससुर ने कहा, मेरी बेटी पूरी तरह से टूट गई है, समय आने पर सब बता दूंगा

कानपुर। अभी दामाद सुरेंद्र की हालत बहुत क्रिटिकल है। समय आने पर सब सच्चाई बता दूंगा। मेरी बेटी पूरी तरह से टूट गई है,अभी केवल उनके ठीक होने की प्रार्थना करिए। यह बात आईपीएस सुरेंद्र सिंह के ससुर डॉ. रावेंद्र सिंह ने कही। उन्होंने पति-पत्नी के बीच विवाद न होने की बात कही। अगर पति पत्नी में विवाद नहीं था तो सुरेंद्र ने जहर क्यों खाया,इस पर डॉ.रावेंद्र चुप्पी साध गए। बोले कि सही समय पर सब कुछ बता देंगे।

ससुर रावेंद्र बोले कि बेटी के घर में आराम करने, दोनों के बीच विवाद होने,नॉनवेज खाने जैसी अफवाएं फैलाई जा रहीं हैं। सच तो यह है कि जब से सुरेंद्र रीजेंसी हाँस्पिटल में एडमिट हैं तब से बेटी यहां से हिली नहीं है। पूरा परिवार यहीं पर डटा है। उन्होंने बताया कि बेटी और दामाद दोनों फिल्म देखने गए थे, उसके बाद घर भी आना चाहते थे, लेकिन मैंने ही मना कर दिया। डॉ रावेंद्र का कहना है कि मेरी बेटी ने उसे ट्रीटमेंट दिया, उल्टियां करवाई। उसके बाद उर्सला पहुंचने पर मुझे जानकारी मिली। वहां से फार्च्यून अस्पताल लेकर आए, जहां से जवाब मिलने पर रीजेंसी में भर्ती कराया।

मुझे नहीं मालूम मेरे भाई ने जहर क्यों खाया
मेरे भाई की हालत बहुत गंभीर है, प्लीज अभी कुछ भी न पूछें। जब वह ठीक हो जाएंगे तो सच्चाई अपने आप सबके सामने आ जाएगी। यह बात सुरेंद्र कुमार दास के भाई नरेंद्र कुमार दास ने कही। उन्होंने कहा कि भाई ने जहर क्यों खाया, उस रात क्या विवाद हुआ इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। भाई से कब से बात नहीं हुईए दोनों के बीच विवाद था,जैसे सवालों पर वह चुप्पी साधे रहे। बोले, भाई के ठीक होने के बाद ही कुछ बोलूंगा।

आईपीएस सुरेंद्र दास के बायें पैर पर जमा खून का थक्का डॉक्टरों ने निकाला
कानपुर। बीते मंगलवार की देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में जहरीला पदार्थ खाने वाले कानपुर के एसपी (पूर्वी) पद पर तैनात आईपीएस अधिकारी सुरेंद्र दास का शनिवार को ऑपरेशन हो गया। उनके बाएं पैर पर जमा खून का थक्का डॉक्टरों ने निकाल लिया है। हालांकि ऑपरेशन का असर 8 घंटे बाद पता चलेगा।
शनिवार की दोपहर सुरेंद्र दास की हालत ज्यादा खराब हो गई थी। उनके शरीर के कई अंगो ने काम करना बंद कर दिया थाए जिसके डॉक्टरों ने उनका ऑपरेशन किया। ऑपरेशन के लिए डॉक्टरों ने आईसीयू वार्ड को ही ऑपरेशन थियेटर बना दिया था। सुरेंद्र दास के बाएं पैर में खून का थक्का बन जम गया था, जिसकी वजह से उनके पैरों में ब्लड की सप्लाई नहीं हो पा रही थी। डॉक्टर सइद अख्तर समेत पांच डाक्टरों की टीम ने ऑपरेशन कर उनके पैर में जमा खून का थक्का निकाल दिया है। वहीँ डाक्टरों के मुताबिक सुरेन्द्र दास की हालत बेहद नाजुक है। फिलहाल उनकी हालत में कोई सुधार नहीं है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper