कजरी तीज पर जलाभिषेक करते समय नदी में नहाने गए तीन किशोरों की डूबकर मौत

बलरामपुर। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिला में कजरी तीज पर भगवान् भोले का जलाभिषेक करने गए तीन किशोरों की नदी में नहाते समय डूबकर मृत्यु हो गई। घटना के दौरान एक किशोर को लोगों ने नदी में छलांग लगाकर बचा लिया उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। इस दुखद हादसे की खबर मिलते ही इलाके में कोहराम मच गया।

सभी नदी को तरफ दौड़ पड़े। जरा सी देर में मौके पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों किशोरों का शव बाहर निकलवाकर अस्पताल में भर्ती कराया, यहां डॉक्टरों ने तीनों किशोरों को मृत घोषित कर दिया। मासूमों के घर में कोहराम मचा हुआ है। थानाध्यक्ष धानेपुर अतुल चतुर्वेदी ने बताया कि तीनो बच्चे धानेपुर थाना क्षेत्र के बाबागंज के रहने वाले थे, जबकि जहां घटना हुई है वह स्थान बलरामपुर जिले के कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के तहत आता है।

बच्चों की मौत की खबर से पूरे क्षेत्र में मचा कोहराम

जानकारी के मुताबिक, मामला धानेपुर थाना क्षेत्र के कुआनों नदी के गुमड़ी घाट का है। यहां बाबागंज कस्बे के रहने वाले विजय मोदनवाल का बेटा हिमांशु (15), राधेश्याम का बेटा शेखर (14) व रेतवागाडा गांव के मजरे इमलिहवा के रहने वाले जगप्रसाद का बेटा शिवा (16) और विकास (14) अपने कई साथियों के साथ बुधवार सुबह घर से निकले। कजरी तीज के मौके पर भगवान शिव का जलाभिषेक करने के लिए सभी बच्चे जल लेने कुआनों नदी के गुमड़ी घाट पर पहुंचे। वहां जल भरने से पहले सभी नहाने के लिए नदी मे उतर गए। इसी दौरान हिमांशु, शेखर व विकास गहरे पानी मे डूबने लगे।

शिवा का कहना है कि जब उसने अपने भाई विकास समेत अन्य बच्चों को डूबता देखा तो शोर मचाते हुए उन्हे बचाने के लिए पानी मे छलांग लगा दी। लेकिन गहराई अधिक होने के कारण वह खुद भी पानी में डूबने लगा। सबको डूबता देख अन्य बच्चों ने शोर मचाया तो आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी और शिवा समेत अन्य तीनो बच्चों को बाहर निकाला। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को अस्पताल भिजवाया लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही हिमांशु, शेखर और विकास ने दम तोड़ दिया जबकि शिवा का इलाज चल रहा है। बच्चों की मौत की खबर से पूरे क्षेत्र मे कोहराम मच गया।

=>