बदमाशों ने बैंक डकैती और डबल मर्डर से किया डिप्टी सीएम का स्वागत

प्रतापगढ़। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिला में हत्या और लूट की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पिछले दिनों कई हत्या की ताबड़तोड़ वारदातों के बाद शुक्रवार को पुलिस की चाक चौबंद व्यवस्था की उस समय पोल खुल गई जब पूरा पुलिस और प्रशासनिक अमला उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या की अगवानी में लगा था। तभी अंतू थाना क्षेत्र में बेखौफ हथियारों से लैस बदमाशों ने बड़ौदा ग्रामीण बैंक में दिनदहाड़े डकैती डालकर छह लाख रुपये लूट लिए और फरार हो गए। इसी थाना क्षेत्र में दबंगों ने जमीन के विवाद में पति-पत्नी को गोली मारकर हत्या करके सनसनी मचा दी। डिप्टी सीएम के आगमन पर दो बड़ी घटनाओं ने पुलिस महकमे के होश उड़ा दिए।पुलिस अधीक्षक देव रंजन भी मौके पर पहुंचे और पूरे मामले की तफ्तीश करने के साथ सीसीटीवी खंगालने में जुटे थे। एसपी के अनुसार वहां के आसपास नाकेबंदी कर दी गई है और बदमाशों की तलाश की गई। लेकिन बदमाशों का पुलिस ने सुराग नहीं लगा पाया।

पुलिस की लापरवाही में हुआ डबल मर्डर
पहली घटना अंतू थाना क्षेत्र के गड़वारा बाजार की है। गड़वारा बाजार निवासी पति दिनेश सिंह और पत्नी प्रीतम सिंह का घर के बगल में ही प्लाट है। जिसे दबंगों ने फर्जी बैनामा करवाकर कब्ज़ा कर लिया था। इसको लेकर पहले भी दोनों पक्षों में लड़ाई हो चुकी थी। आज एक बार फिर दबंग मृतक के घर पहुंचे और दिनेश सिंह को मारने लगे। बीच-बचाव करने आई पत्नी को भी दबंगों ने पीटा। इसके बाद दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि मृतक दंपत्ति ने जमीन विवाद में दबंगों के खिलाफ पहले भी शिकायत की थी। उस समय पुलिस ने मामले को गंभीरता से न लेते हुए रफा-दफा करा दिया। बताया जा रहा है आरोपी का नाम भी दिनेश ही है जो पूर्व की सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे शिवाकांत ओझा का करीबी माना जाता है। फिलहाल पुलिस अब इस डबल मर्डर की गुत्थी सुलझाने में लगी है। लोगों का कहना है कि अगर पुलिस ने पहले कसे कार्रवाई कर दी होती तो ये नौबत ना आती।

असलहों से लैस आधा दर्जन बदमाशों ने बैंक लूटी
दूसरी घटना भी अंतू कोतवाली क्षेत्र की है, यहां जगेशरगंज स्थित बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक में बदमाशों ने इस घटना को उस वक्त अंजाम दिया, जब पूरा प्रशासनिक और पुलिस का अमला उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की अगवानी को जिले में जगह-जगह तैनात था। शुक्रवार को करीब 12 बजे दो बाइक पर सवार आधा दर्जन सशस्त्र बदमाश बैंक के पास पहुंचे। इस दौरान दो बदमाश बैंक के बाहर खड़े होकर पहरे पर लग गए और बाकी असलहा लहराते हुए बैंक के अंदर घुस गए।इस दौरान बदमाशों ने बैंक के मैनेजर और कैशियर को बंधक बनाकर जमकर पीटा और कनपटी पर असलहा लगा दिया। बदमाशों ने कैश काउंटर में रखा 4 लाख 68 हजार और ग्राहकों के जमा हुए करीब 1 लाख रुपये को लूट लिया। इसके बाद बदमाश बाहर निकले और असलहा लहराते हुए मौके से फरार हो गए। इस घटना के बाद बैंककर्मियों ने पुलिस को सूचना दी। बैंक के अंदर हुई इस वारदात से पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया।

कई बड़ी घटनाओं से दहल चुका प्रतापगढ़
गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से अपराधी लगतार पुलिस के इकबाल को चुनौती दे रहे हैं। रंगदारी न देने पर कुछ दिन पहले ही दो व्यापारी भाईयों की गोलियों से भुनकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद एक अन्य व्यापारी ने भी रंगदारी मांगने और जान से मारने की धमकी मिलने पर घर से पलायन कर दिया था। अब जिले में हुई इस बैंक डकैती ने पुलिस पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। हालांकि, पुलिस जल्द ही लूट के खुलासे की बात कह रही है। वहीं डकैती की वारदात के बाद से जगेशरगंज बाजार में दहशत का माहौल है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper