सोलर एनर्जी में 2022 तक चीन को पछाड़ देगा भारतः योगेश

मेरठ। आरईआई एक्सपो अंतर्राष्ट्रीय कारोबारियों को करोबार के अवसर प्रदान करेगा, उन्हें आधुनिक तकनीकों के बारे में जानकारी देगा। अंतर्राष्ट्रीय निवेश आकर्षित करेगा तथा समझौता ज्ञापनों के लिए महत्वपूर्ण मंच प्रदान करेगा।


इस साल हम सोलर एनर्जी के अलावा विंड, हाइड्रोपावर और बायोमास पर भी ध्यान दे रहे हैं। आरईआई के माध्यम से हम उर्जा संग्रहण, ई-मोबिलिटी, डेटा एनालिटिक्स, आईओटी के आधुनिक रूझानों पर ध्यान देंगे, ये सभी कारक इस क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव ला सकते हैं। उक्त बातें यहां आयोजित एक सम्मेलन में यूबीएम इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर योगेश मुद्रास ने कही।
दिल्ली रोड स्थित एक होटल में आयोजित सम्मेलन के दौरान मैनेजिंग डायरेक्टर ने बताया कि यूबीएम इंडिया द्वारा रीन्यूएबल एनर्जी इण्डिया एक्सपो (आरईआई) का 12वां संस्करण 18 से 20 सितम्बर के बीच ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपो सेंटर में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत स्वच्छ उर्जा रूपांतरण की दृष्टि से अपने आपको मजबूती से स्थापित करना चाहता है। इसके लिए 2022 तक कम से कम 225,000 मेगावॉट नव्यकरणी उर्जा क्षमता इंसटॉल करने का लक्ष्य तय किया गया है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper