चौपाल के माध्यम से प्रमुख सचिव एवं डीएम ने ग्राम के विकास कार्यो की समीक्षा की

शाहजहाँपुर। प्रमुख सचिव/नोडल अधिकारी डिम्पल वर्मा एवं जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी के साथ विकास खंड खुदागंज के आदर्ष ग्राम नवादा दरोबस्त के प्राथमिक विद्यालय में चैपाल के माध्यम से ग्राम के विकास कार्यो की समीक्षा की गई। इस अवसर पर प्रमुख सचिव महोदया एवं जिलाधिकारी व विधायक वीर विक्रम सिंह (प्रिन्स) द्वारा प्राथमिक विद्यायल में वृक्ष रोपित किये गये। उक्त अवसर पर ग्राम प्रधान द्वारा बताया गया कि सफाई कर्मी तीन महीने से नही आ रहा है जिस पर प्रमुख सचिव महोदया ने सफाई कर्मी के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देष जिला पंचायतराज अधिकारी को दिये। उन्होने ग्रामवासियों से पूछा कि बिजली आप लोगों को कितने घंटे मिल रही है इस पर ग्रामीणों ने बताया कि बिजली के पोल नये सिरे से लगने के कारण सुचारु रुप से नही मिल रही है इसके अलावा ग्रामीणों ने बताया कि सौभाग्य योजना के अन्तर्गत जो विद्युत कनेक्षन मिले थे उसमें कनेक्षन करने आये कार्यदायी संस्था के लोगों ने कनेक्षन तो किये किन्तु योजना के अन्तर्गत मिलने वाले केबिल व बल्ब नही दिये जिस पर प्रमुख सचिव ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जिस कार्यदायी संस्था द्वारा विद्युत कनेक्षन किये गये उस कार्यदायी संस्था के विरुद्ध कार्यवाही करने के निर्देष अधिषासी अभियन्ता विद्युत को दिये। प्रमुख सचिव ने षौचालय निर्माण पात्र व्यक्तियों को मिलने वाले षौचालयों के निर्माण में गति लाने को कहा और उन्होंने ग्रामवासियों से स्वच्छता के लिए विषेष ध्यान देने को कहा। इसके उपरान्त प्रमुख सचिव महोदया ने गांव का भ्रमण कर निरीक्षण किया जिसमें प्राथमिक विद्यालय में खिडकी न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बीएसए को निर्देष दिये कि विद्यालय में तत्काल खिडकी लगवायी जाये।इसके अलावा गांव की टूटी नालियां, निर्माणाधीन सडक को देखकर प्रमुख सचिव ने अधिषाषी अभियन्ता पीडब्ल्यूडी को निदेष दिये कि इस कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण करें। उन्होने गांव में गन्दगी देखकर प्रधान को निर्देष दिये कि गांव में साफ सफाई बेहतर ढंग से कराये और सभी ग्रामवासी एक दिन का श्रमदान करें। ग्रामीणों ने नोडल अधिकारी को बताया कि पूर्व में स्वीकृत हुए आवासों में गलत तरीके से अपात्रों को आवास स्वीकृत किये गये है इस पर नोडल अधिकारी ने स्वीकृत आवासों को निरीक्षण किया और मौके पर कुछ तथ्य सही पाये गये। जिस पर महोदया ने आवासों को स्वीकृत करने वाले बीडीओ एवं प्रधान की जांच कर कार्यवाही करने के निर्देष दिये। इसके उपरान्त जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी ने जमीलापुर ग्राम का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने पाया कि गांव से सम्पर्क मार्ग न होने के कारण ग्रामीणों को काफी दिक्कतें होती है इस बात को ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारी को निर्देष दिये कि उक्त ग्राम को लिंक रोड से जोडते हुए सडक का निर्माण तत्काल कराये। जिलाधिकारी ने ष्यामवीर के घर से लेकर बनबारी के मकान तक नाली कीचड से भरी होने पर उन्होने ग्रामवासियों से एक दिन का श्रमदान करने के लिए कहा जिससे नाली साफ हो सके। जिलाधिकारी ने प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया जिसमें बच्चों से पूछा कि देष के प्रधानमन्त्री कौन है इस पर बच्चे कोई भी जबाब नही दे सके, इस पर जिलाधिकारी ने सहायक अध्यापक से कहा कि बच्चों को अच्छे से पढाये और दस दिन बाद बच्चों का टेस्ट मैं स्वयं लूँगा, अगर उसमें बच्चे पास नही हुए तो आपके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी, एसडीएम तिलहर, डीएसटीओ, डीएफओ, डीपीआरओ, डीसी मनरेगा सहित अन्य अधिकारीगण एवं ग्रामवासी मौजूद रहे।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper