शाहाबाद- आखिर भाजपा नेताओं ने क्यों बनाई रामलीला कार्यक्रम से दूरी- पप्पू दीक्षित

रामबारात में नहीं आया कोई भाजपा सांसद, विधायक या कद्दावर नेता
शाहाबाद।हरदोई11अक्टूबर। श्री रामलीला मेला समिति के मीडियाप्रभारी ओमदेव दीक्षित के अनुसार जब हजारों की भीड़ सड़कों से लेकर चबूतरों और छतों से लेकर अट्टालिकाओं तक श्री राम लला की बारात देखने के लिए लालायित दिखी तब भी राम के नाम पर एवँ हिन्दुत्व की दम पर बड़े आदमी एवँ बड़े नेता बनने बाले व फर्स से अर्स तक का सफर तय करने बाले और नेता बनकर अपने ऐशोआराम के तमाम संसाधन जुटाने बाले लोगों को रामबारात में अपनी सूरत दिखाने तक का समय नहीं मिला उन्होंने कहा मैं भाजपा के बड़बोले लोगों से पूँछना चाहता हूँ कि क्या क्षेत्रीय विधायक रजनी तिवारी को भी शाहाबाद के ऐसे सामाजिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों से दूर रहना चाहिए और फिर शाहाबाद पठकाना का रामलीला तो यहाँ का वह ऐतिहासिक रामलीला है जो नगर पालिका परिषद से लेकर विधानसभा व लोकसभा तक का प्रतिनिधित्व तय करने की क्षमता रखता है परंतु इस रामलीला में किसी भी कद्दावर नेता द्वारा सूरत न दिखाना उनकी अवसरवादी मानसिकता का द्योतक है। जिसके दुष्परिणाम निकट भविष्य में उनके सामने आना अवश्यसंभावी है। हालाँकि इस सम्बंध में मेला समिति के महामंत्री अनुराग मिश्र ने बताया कि समिति के द्वारा किसी भी जनप्रतिनिधि सहित कद्दावर भाजपा नेता व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित नहीं किया जबकि अपनी ही समिति के महामंत्री श्री मिश्र आदि के कथन का खण्डन करते हुए श्री दीक्षित ने तर्क दिया कि नगर से लेकर ग्रामीण अंचलों से झाँकियाँ देखने आये हजारों लोगों सहित माताओं बहनों को मेला समिति द्वारा क्या व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित किया गया था ! क्या पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष एवं पूर्व जिला कोऑपरेटिव चेयरमैन बृजराज बाबा को व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित किया गया जो पूरी बारात भर डटे रहे या अन्य जितने गणमान्य नागरिक व सभासद एवँ पूर्व सभासद पूर्व प्रशासक आदि जिन्होंने रामबारात में सम्मिलित होकर आनन्द लिया और सभी का उत्साहवर्धन किया क्या उन्हें मेला समिति द्वारा आमंत्रित किया गया था।उन्होंने कहा यह श्रद्धा भक्ति भाव आस्था की बात है यहाँ पर फिलहाल ‘सत्ता पाहि काहि मद नाहीं ‘ का भावार्थ स्पष्ट दृष्टिगोचर हो रहा है।
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper