गोलीबारी का बदला चाकू से हत्या कर लिया , तीन गिरफ्तार

 सोनू और राहुल में था विवाद ,बीते 10 दिन पहले सोनू एनएमसीएच के पास मिला था शव

>> एसएसपी मनु महाराज ने गिरफ्तारी के लिए गठित किया था पुलिस टीम

रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । एसएसपी मनु महाराज को सूचना मिली की सोनू हत्याकांड में शामिल मुख्य अपराधी राहुल को मीना बाजार के पास से गिरफ्तार कर लिया ।फिर इसके निशानदेही पर इसके दोनों साथी विशाल और छोटू को भी गिरफ्तार करने में पुलिस को कामयाबी मिल गयी ।
       बीते 1 अक्टूबर से आलमगंज निवासी रजीया खातुन का बेटा सोनू कुमार घर से लापता था।काभी खोजबीन के बाद जब नहीं मिला तो रजीया खातुन ने बीते 5 अक्टूबर को अपने बेटे के अपहरण का मामला आलमगंज थाने में दर्ज करायी । इसी क्रम में एक अज्ञात लाश पुलिस ने एनएमसीएच से बरामद किया था जिसे पोस्टमार्टम बाद सुरक्षित रखा हुआ था। रजीया खातुन, अपने बेटे का लाश देखते ही पहचान गयी । पुरे शरीर पर चाकूओं का निशान था।
        जांच में यह मामला ,प्रकाश में आया की मृतक सोनू और राहुल में पुरानी दुश्मनी है और बीते वर्ष 18 अप्रैल को दोनों के बीच गोलीबारी हो चुकी हैं । पुलिस राहुल के पीछे छापेमारी करने में जुटी थी।इसी क्रम में एसएसपी मनु महाराज को किसी ने गुप्त सूचना दिया की घटना में शामिल मुख्य आरोपी राहुल मीना बाजार के मंडी के पास है। एसएसपी के आदेश पर पुलिस टीम ने छापेमारी करते हुये राहुल चौधरी ,विशाल उर्फ कगड़ा, दोनों थाना आलमगंज एवं छोटू उर्फ अनोलिया, थाना बहादुरपुर को गिरफ्तार कर लिया गया । पूछताछ में मुख्य सरगना राहुल ने बताया की बदले की भावना को लेकर सोनू को चाकू से काटकर हत्या कर दिया और लाश को एन एमसीएच के पास फेंक दिया ।

गांजा तस्कर राजीव ,1 लाख 86 हजार 300 रूपये के साथ गिरफ्तार

एसएसपी मुन महाराज को लगातार सूचना मिल रहा था की गांजा ,स्मेक तस्कर राजीव सक्रियता से तस्करी में जुटा हैं । स्पेशल टीम और आलमगंज पुलिस ने एसएसपी के निर्देश पर गुड़ के मंडी के पास छापेमारी करते हुये राजीव को गिरफ्तार कर लिया ।पुलिस ने गांजा -10 पुड़िया, स्मेक-82 पुड़िया और तस्करी का 1 लाख 86 हजार 300 रूपये नगद बरामद किया हैं ।
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper