बेसिक शिक्षा विभाग के बड़े बाबू रिश्वत लेते गिरफ्तार

एसपी राजीव मल्होत्रा के निर्देश पर एंटीकरप्शन ने दबोचा

अपराध संवाददाता
लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लाख कोशिश कर ले भ्रष्टाचार खत्म करने की लेकिन यह सम्भव नहीं है। उन्के सरकारी कर्मचारी रिश्वत लेना कतई बंद नहीं कर सकते है। ताजा मामला उन्नाव का है, यू.पी. भ्रष्टाचार निवारण संगठन लखनऊ इकाई की टीम ने गुरूवार को शिक्षा विभाग के एक बड़े बाबू को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। वहीं अरोपी के ऊपर पुलिस द्वारा कानूनी कार्यवाही की जा रहीं है। भ्रष्टाचार निवारण संगठन (एंटीकरप्शन) के यू.पी. एसपी राजीव मल्होत्रा ने बताया कि गुरूवार को शिकायतकर्ता सहायक अध्यापिका अनामिका भारती उच्च प्राथमिक विद्यालय मिर्रीकला, थाना असोहा जनपद उन्नाव के लिखित सूचना पर जिला कार्यालय बेसिक शिक्षा अधिकारी के प्रधान सहायक कौशल किशोर त्रिवेदी को एंटीकरप्शन की टीम ने गिरफ्तार करने की एक योजना बनाई। जहां रिश्वत मांगने वाले प्रधान सहायक कौशल किशोर त्रिवेदी को 19 सौ रूपए रिश्वत लेते रगें हाथ एंटीकरप्शन लखनऊ की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। शिकायतकर्ता सहायक अध्यापिका अनामिका भारती ने बताया कि प्रधान सहायक कौशल किशोर त्रिवेदी ने स्वाथ्य समस्या के सम्बंध में दिये गये आवेदन में अवकाश स्वीकृत कराने एवं मार्च माह का लम्बित पड़ा वेतन दिलाने के लिए 19 सौ रूपए रिश्वत मांग रहे थे। इसकी शिकायत सहायक अध्यापिका अनामिका भारती ने एंटीकरप्शन विभाग में दर्ज करायी। जहां यूपी एसपी राजीव मल्होत्रा के निर्देश पर एंटीकरप्शन लखनऊ की टीम के इंस्पेक्टर संजय सिंह अपनी टीम के साथ अरोपी प्रधान सहायक कौशल किशोर त्रिवेदी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। जहां शिकायतकर्ता अनामिका भारती ने प्रधान सहायक कौशल किशोर त्रिवेदी को 19 सौ रूपए दिये। वैसे ही एंटीकरप्शन की टीम ने अरोपी कौशल किशोर त्रिवेदी को रगें हाथ रूपए लेते हुए कार्यालय परिसर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जनपद उन्नाव से गिरफ्तार कर लिया। जहां एंटीकरप्शन की टीम ने आरोपी प्रधान सहायक कौशल किशोर त्रिवेदी के ऊपर थाना कोतवाली शहर में मुकदमा दर्जकर कानूनी कार्यवाही की जा रहीं है।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com