नवजात को लावारिस छोड़ भागने का सेफ जोन बना सदर अस्पताल, सुरक्षा व्यवस्था है राम भरोसे

आरा(डिम्पल राय/वसीम)। जिले का इकलौता आईएसओ मान्यता प्राप्त सदर अस्पताल नवजात को छोड़ भागने का सेफ जोन बनता जा रहा है हालांकि सरकार अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर हर महीने लाखो खर्च करती है मगर सदर अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था राम भरोसे है। इस सदर अस्पताल में मौजूद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर आप खुद अंदाजा लगा सकते है कि बीते दिनों सदर अस्पताल के प्रसूति विभाग में एक महिला मरीज को अनजान महिला ने इंजेक्सन लगा दिया था जिसके बाद परिजनों ने जम कर बवाल काटा था। आरा सदर अस्पताल में सुरक्षा के नाम पर पर्याप्त मात्रा में सिक्योरिटी गार्ड, सीसीटीवी कैमरा सहित कई व्यवस्था मौजूद है फिर भी अस्पताल परिसर में परिजनों द्वारा नवजात बच्चे को लावारिस अवस्था मे छोड़ कर भागना कम नही हो रहा है। बीते दिनों जहा सीएस ऑफिस के बाहर परिजन नवजात बच्चे को छोड़ कर भाग गए थे वही वही आज सदर अस्पताल के प्रसूति विभाग में नवजात को लावारिस अवस्था मे छोड़कर परिजन भाग निकले। काफी देर तक बच्चे के पास किसी के न पहुंचने पर आसपास मौजूद मरीज और उनके परिजनों को शक हुआ जिसके बाद नवजात के परिजनों की खोजबीन शुरू हुई लेकिन वो नही मिले। वार्ड में मौजूद ममता ने तत्काल इसकी सूचना अस्पताल प्रबंधन को दी जिसके बाद प्रबंधन के निर्देश पर बच्चे को एसएनसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है। वहीं नवजात के परिजन कौन थे कहां से आये थे ये अबतक स्पष्ट नही हो पाया है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper