दिल दहला देने वाली घटना: महिला ने खाट में बांधकर 4 बच्चों को जिंदा जलाया, खुद को भी लगाई आग

हमीरपुर। नवरात्रि में एक तरफ जहां लोग माँ दुर्गा की पूजा करके मन चाहा वरदान पाने के लिए व्रत रखकर कामना करते हैं। वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिला में एक कलयुगी माँ ने ‘चंडी’ (काली माँ) का रूप धारण करते हुए अपने ही चार बच्चों को पहले खूब पीटा फिर खाट (चारपाई) में बांधकर मिटटी का तेल डालकर आग में जिंदा जला दिया। महिला की क्रूरता का शिकार बच्चे आग की लपटों से घिरकर चीखते-चिल्लाते रहे। लेकिन डाईन का रूप धरे बैठी कलयुगी माँ देखती रही।

चीख पुकार सुनकर पड़ोसी दौड़े और कंबल डालकर आग बुझाई तब तक मासूमों के शरीर की चमड़ी उधड़ चुकी थी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची तब तक दो बच्चों की मौत हो गई थी। पुलिस ने गंभीर रूप से झुलसे दो बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया। यहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने मृत बच्चों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। गांव में पुलिस अधिकारी, एसडीएम मौके पर हैं। पुलिस ने बताया कि महिला ने गृह कलेश के चलते खुद को भी आग लगा ली। महिला भी इस हादसे में बुरी तरह झुलसी है। उसे भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस विभिन्न बिंदुओं को ध्यान में रखकर पूरे मामले की गहनता से तफ्तीश कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, दिल को दहला देने वाली घटना राठ थाना क्षेत्र की है। यहां अमगांव की रहने वाली एक कलयुगी माँ ने 4 बच्चों को खाट में बांधकर तेल डालकर आग लगा दी। इसके बाद खुद को भी आग के हवाले कर लिया। आग लगते ही महिला और बच्चे चीखने चिल्लाने लगे। शोर सुनकर ग्रामीण दौड़े तो उनके होश उड़ गए। इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और गंभीर हालत में बच्चों और महिला को अस्पताल में भर्ती कराया। तब तक दो बच्चों की मौत हो गई। जबकि महिला और दो बच्चों का इलाज चल रहा है। घटना के बाद गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है। मौके पर सीओ, एसडीएम और थाने की पुलिस फोर्स मौजूद रही। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper