अवैध कब्जे हटने तक गांव में कैम्प करेंगे राजस्व व चकबन्दी अधिकारी : सांसद

गोण्डा। कैसरगंज के सांसद बृजभूषण शरण सिंह, डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव तथा एसपी लल्लन सिंह ने तहसील तरबगंज अन्तर्गत ग्राम तुलसीपुर माझा में शुक्रवार को चकबन्दी व भूमि विवादों को निपटाने के लिए चौपाल लगाई तथा लोगों की समस्याएं सुनीं। सांसद व डीएम ने राजस्व तथा चकबन्दी विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे सब गांव में तब तक कैम्प करेंगें जब तक कि गांव के सारे पट्टों से अवैध कब्जे न हट जाएं।
ज्ञात हुआ कि तहसील तरबगंज की ग्राम पंचायत तुलसीपुर माझा में सन् 1974 से लेकर अभी तक चकबन्दी का कार्य पूरा नही हो पाया है। कई दशक बीत जाने के बाद भी पट्टोदारों को कब्जा नहीं मिला बल्कि कुछ दबंगों ने पट्टेदारों की जमीनें हड़प लिया है। चौपाल में पट्टेदारों ने अपनी समस्या सांसद व डीएम से बताई जिस पर डीएम ने एसओसी जेडी यादव, एसडीएम सौरभ भट्ट तथा सीओ तरबगंज को आदेश दिए हैं कि जिन लोगों ने दबंगई के बल पर गरीबों के पट्टे की जमीनों पर अवैध क्बजे कर रखे हैं उन सभी का चिन्हांकन कर उनके खिलाफ गुन्डा एक्ट, गैंगस्टर तथा भूमाफिया जैसी बड़ी कार्यवाही करें तथा पीड़ितों से प्रार्थनापत्र लेकर जमीन की पैमाइश कराकर पट्टेदारों को उनकी आवंटित जमीन लिखा पढ़ी मे दें। डीएम ने साफ चेतावनी दी कि चबकन्दी और राजस्व के अधिकारी संयुक्त रूप से निष्पक्ष होकर पैमाइश करेंगें तथा जो भी नियम संगत हो उसके मुताबिक लोगों को उनकी जमीन लौटाएंगे। उन्होने कहा कि जो भी व्यक्ति दबंगई दिखाने का प्रयास करेगा उससे सख्ती से निपटा जाएगा और कठोर से कठोर कार्यवाही की जाएगी।
एसपी ने सीओ को निर्देश दिए हैं कि गरीबो की जमीनों पर अवैध कब्जे करने वालों के शस्त्र लाइसेन्स भी निरस्त करने की सस्तुति भेजें।
सीआरओ कुंज बिहारी अग्रवाल ने बताया कि तुलसीपुर माझा में कुल 380 पट्टे आवंटित किए गए थे जिसके सापेक्ष 200 लोगों को कब्जा मिल सका है। यह भी ज्ञात हुआ कि वहां पर कुल 2180 गाटे हैं जिनमे से ज्यादातर गाटे विवादित हैं।
इस दौरान विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह, सीओ महावीर सिंह, ब्लाक प्रमुख्य करनभूषण सिंह, नपाप अध्यक्ष सतेन्द्र सिंह, तहसीलदार बृजमोहन, विधायक प्रतिनिधि अजय सिंह, ग्राम प्रधान तुलसीपुर माझा तथा ग्रामीण मौजूद रहे।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper