हरपालपुर व अरवल के कई गांवों में कुटीर उद्योग को रूप ले रही कच्ची शराब

 पुलिस व आबकारी विभाग के रहमों करम पर धड़ल्ले से चल रहा यह धंधा
शाम होते ही गांवों में लगने लगती महफिले आम जनमानस का जीना मुहाल
हरपालपुर।हरदोई09अगस्त कटियारी क्षेत्र में कच्ची शराब शराब की भट्टियां खुलेआम चल रही है।जिन पर हरपालपुर पुलिस लगाम नहीं लगा पा रही है।इसका प्रमुख कारण अंकुश न लगा पाना पुलिस प्रशासन व आबकारी विभाग की अपनी मोटी कमाई भी हो सकती है।इस चक्कर में इन पर कोई कार्यवाही करना मुनासिब नहीं समझते जिम्मेदार धीरे धीरे ग्रामीण इलाकों में शराब का कारोबार लघु उद्योगों का रूप ले रहा है।यह शराब बहुत ही घातक है।जहरीली भी बताई जाती है।लेकिन पुलिस प्रशासन अपनी चुप्पी साधे हुए हैं।इन पर कोई कार्यवाही करना मुनासिब नहीं समझती है।वही बताते चलें कि कटियारी में कच्ची शराब का कारोबार बहुत ही तेजी से फैल रहा है। जिस पर आबकारी विभाग भी कुंभकरणी की नींद सो रहा है।सूत्रों के मुताबिक  पुलिस तो अपनी हर माह मोटी कमाई के चक्कर में कच्ची शराब के कारोबारियों को खुला संरक्षण दे रही है।इन पर अंकुश लगाना मुनासिब नहीं समझती हैं। कटियारी क्षेत्र के कुछ ऐसे गांव हैं। जिनमें सुबह हो या शाम दोपहर किसी भी वक्त आप जाकर खुलेआम धड़ल्ले से कच्ची शराब ले सकते हैं।जैसे कि बासी सनफरा लमकन अन्ना बैठापुर सिमरिया टिलियापुर पलिया जुगापुरवा धर्मपुर खरगपुर बड़ा गांव सुभौआपुर बरसोई आदि गावो में बे रोक टोक  कच्ची शराब की बिक्री हो रही है।
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper