अवैध असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में क्रिमिनल इंटेलिजेंस विंग और मुरादाबाद पुलिस के संयुक्त अभियान में वर्ष 2010 से चल रही अवैध असलहे बनाने की फैक्ट्री शुक्रवार को पकड़ी गई है। इस दौरान टीम ने दो लोगों को हिरासत में लिया है। इनके पास से मौके से 40 अवैध असलहा जिसमे 15 निर्मित एवं 25 अर्धनिर्मित तमंचे बरामद किये है। पुलिस ने मौके से दो लोगों को गिरफ्तार करने के साथ भारी मात्रा में अवैध शस्त्र बनाने के उपकरण भी मौके से बरामद किये है। गिरफ्तार दोनों युवक मुरादाबाद के ही रहने वाले है जो उतराखंड समेत उत्तर प्रदेश में अवैध असलहों की सप्लाई पिछले आठ वर्षो से करते आ रहे थे।
पुलिस के मुताबिक क्रिमिनल इंटेलिजेंस विंग (सीआईवी) और मैनाठेर थाना पुलिस ने संभल रोड स्थित मीट फैक्ट्री के सामने मौजूद खंडहर में अवैध रूप से असलहा बनाये जाने की सूचना मिली थी। सूचना के बाद क्रिमिनल इंटेलिजेंस विंग के प्रभारी निरीक्षक करनपाल सिंह और मैनाठेर थाना के प्रभारी निरीक्षक अजयपाल सिंह के संयुक्त स्पेशल अभियान में टीमों के साथ छापामारी की गई। जहाँ अवैध रूप से बन रहे तमंचे बनाये जाने की फैक्ट्री संचालित मिली। इस दौरान पुलिस ने मौके से बबली उर्फ़ मोहसिन और रूप सिंह को हिरासत में लिया है।
पुलिस ने पकडे़ गए लोगों से जब सख्ती से पूछताछ की तो कई चौकाने वाले तथ्य सामने आये जहा इन्होने बताया की यह लोग वर्ष 2010 से इस फैक्ट्री का संचालन करते हुए निर्मित तमंचों को उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में सप्लाई करते थे। यह फुटकर में किसी तमंचे को नहीं बेचते थे जबकि आर्डर पर बड़ी मात्रा में असलहे तैयार कर उसकी सप्लाई करते थे। इन्होने बताया की अबतक यूपी और उत्तराखंड में करीब साढ़े छ सौ अवैध तमंचे बेच चुके है।
बहरहाल पुलिस इनसे तफसील से पूछताछ कर रही है और पता लगा रही है कि इन्होंने अबतक किसे और कहां-कहां तमंचे बेचे है। वहीं अवैध रूप से संचालित असलहा फैक्ट्री पकडे़ जाने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जे रविन्द्र गौड़ ने टीम को 25 हजार का इनाम देने की घोषणा की गई।
एसपी देहात उदय शंकर सिंह ने बताया की क्रिमिनल इंटेलिजेंस विंग(सीआईवी) और मैनाठेर थाना पुलिस के संयुक्त छापेमारी में एक अवैध असलहा बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई है जिसमे एक बबली उर्फ़ मोहिसन थाना डिलारी मुरादाबाद वहीँ दूसरा रूप सिंह थाना ठाकुरद्वारा मुरादाबाद का रहने वाला है। गिरफ्तार अभियुक्तों में एक तमंचा बनाता था तो वहीँ दूसरा उसकी सप्लाई किये जाने का कार्य करता था। यह उतराखंड के उधमसिंह नगर के आसपास के इलाके समेत उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद, रामपुर संभल और आसपास के जनपदों में अवैध तमंचो की सप्लाई करते थे। इनके तार कहा तक जुड़े हुए है पुलिस इसकी जाँच पड़ताल कर रही है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper