जेल शिफ्ट मामला – हाईकोर्ट बड़ा या पुलिस  ! अब क्या निर्णय लेंगे डीएम, आईजी 

>> हार्डकोर नक्सली अजय कानू के ट्रायल के लिए बेऊर जेल में गठित हैं स्पेशल कोर्ट ,प्रतिनियुक्त हैं विशेष न्यायाधीश
>> डीएम के भेजे गये रिपोर्ट में अजय कानू के ऊपर बताया गया हैं 11 केस, जबकि ट्रायल के बचें है मात्र 5 केस, इसमें तीन की सुनवाई पुरी ,फैसला आना हैं बाकी
>> डीआईजी ने जेल आईजी से किया है अनुरोध ,1 सप्ताह के अंदर दूसरे सेंट्रल जेल भेजने की करें व्यवस्था
>> डीएम के रिपोर्ट आने के बाद करेंगे अनुकूल कार्रवाई – जेल आईजी
>> जेल अधीक्षकों के साथ समीक्षा कर लेंगे निर्णय -जिलाधिकारी
रवीश कुमार मणि
पटना (अ सं) । हाल के दिनों में कुछ ऐसे बड़े अपराध की घटनाएं हुई हैं ,जिसका तार सीधे जेल से जुड़ा पाया गया हैं । जेल में बंद कुख्यात अपराधियों ने साजिश रचा और उसके गुर्गों ने घटना को अंजाम दें ,विधि -व्यवस्था की चुनौती दीं ।सेंट्रल रेंज डीआईजी ,राजेश कुमार ,कई कांड के समीक्षा के दौरान भी ऐसा ही पाया और गंभीरता से लेते हुये कुख्यात अपराधियों को पटना जिला के जेलों से दूसरे सेंट्रल जेल भेजने के दिशा में कार्रवाई शुरू किया ,और कुख्यात कैदियों की सूची बनाने की जिम्मेवारी एएसपी, ऑपरेशन अनिल कुमार को सौंपा । सूची में 44 कैदियों का नाम हैं ,इसमें हार्डकोर नक्सली अजय कानू भी शामिल हैं । डीआईजी राजेश कुमार ने एक सप्ताह के अंदर सूची में शामिल कैदियों को दूसरे सेंट्रल जेल में शिफ्ट करने का अनुरोध जेल आईजी एवं अग्रसर कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी को लिखा हैं । नक्सली अजय कानू ,बिहार का एक ऐसा कैदी हैं जिसके लिए पटना हाईकोर्ट ने जेल के अंदर स्पेशल कोर्ट गठित किया हैं ।
जेल शिफ्टिंग का निर्णय  ,क्राइम कंट्रोल के लिए बेहतर हैं ।लेकिन कभी -कभी ,अति उत्साह में लिया गया निर्णय गड़बड़ साबित होता हैं ।जिस अजय कानू को दूसरे जेल शिफ्ट करने की बात डीआईजी द्वारा कहीं गयी हैं वह बीते  2007 से आदर्श केन्द्रीय कारा बेऊर जेल में बंद हैं ।करीब 4 दर्जन नक्सली वारदात के मामले बिहार के गया ,जहानाबाद, अरवल, पटना में अजय कानू के खिलाफ दर्ज थे। अजय कानू का विभिन्न जिले के कोर्ट में पेशी पर भारी-भड़कम खर्च होता था और सुरक्षा -व्यवस्था एक चुनौती रहती थीं । अजय कानू  के सभी लंबित मामले का स्पीडी ट्रायल कराने को लेकर पटना हाईकोर्ट ने बेऊर जेल के अंदर स्पेशल कोर्ट गठित करने का अधिसूचना संख्या -464 ,दिनांक – 13 /09 /2012 ,जारी किया । सरकार ने पटना हाईकोर्ट के आदेश पर गजट भी प्रकाशित कर दिया ।
सहायक कारा महानिरीक्षक ने अपने पत्रांक 5341 ,दिनांक -12/12/2012 के द्वारा पत्र लिखकर, आदर्श केन्द्रीय कारा बेऊर के अधीक्षक को आदेश दिया की पटना हाईकोर्ट के जारी अधिसूचना के अनुसार जेल के अंदर दो कोर्ट रूम, 1 विशेष अपर जिला न्यायाधीश और दूसरा ,प्रथम श्रेणी, न्यायिक दंडाधिकारी के लिए व्यवस्था करें । तत्कालीन जिला सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार ने अपने पत्रांक- 7367 -7368 ,दिनांक 01 /07 /2018 के द्वारा अपर जिला सत्र न्यायाधीश राजकुमार सिंह को विशेष न्यायाधीश के रूप में बेऊर जेल में बनें स्पेशल कोर्ट में प्रतिनियुक्त किया गया । वही पटना हाईकोर्ट के तत्कालीन महानिबंधक बिरेन्द्र कुमार ने दिनांक 26 /09 /2013 को पत्रांक 11550 जारी करते हुये ,पटना एवं जहानाबाद जिला जज को निर्देश दिया की अजय कानू से जुड़े सभी केस को ट्रायल हेतु बेऊर जेल स्थित ,स्पेशल कोर्ट को सौंपा जाएं । वही ,दिनांक 16 /01/2015 को प्रथम श्रेणी ,न्यायिक दंडाधिकारी मनोज कुमार को भी स्पेशल कोर्ट ,बेऊर जेल में प्रतिनियुक्त किया गया ।कैदी ,अजय कानू के लिए  बेऊर जेल में  बनें स्पेशल कोर्ट में अपर जिला सत्र न्यायाधीश ,मधुकर कुमार  ,विशेष जज के रूप में प्रतिनियुक्त हैं । एक दिन पहले, बीते शनिवार को अजय कानू को पुलिस इंकाउंटर मामले में सजा सुनाया गया हैं ।
डीआईजी राजेश कुमार द्वारा बीते 18/08/2018 को जिलाधिकारी, पटना ,आयुक्त पटना ,जोनल आईजी पटना ,जेल आईजी पटना को जो पत्र ,कैदियों के दूसरे जेल में शिफ्ट करने को लिखा गया हैं ।नक्सली अजय कानू पर 11 केस लंबित बताया गया हैं । जबकि अजय कानू पर मात्र 5 केस लंबित हैं ।इसमें जहानाबाद जेल ब्रेक का 314 /2005 ,315 /2005 ,करपी थाना कांड संख्या 98 /97 एवं 26 /95 एवं फुलवारीशरीफ कांड संख्या 140 /2002 शामिल हैं । इसमें तीन केस का फैसला जल्द आने वाला हैं ,बहस पुरी हो चुकी हैं । इस तरह हार्डकोर नक्सली अजय कानू के लिए पटना हाईकोर्ट के आदेश पर गठित किया गया बेऊर जेल में स्पेशल कोर्ट ,अजय कानू के दूसरे जेल में ही शिफ्ट होते खत्म हो जाएगा ?
अजय कानू को दूसरे जेल में शिफ्ट करने के मामले में जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहां की सूची ,अभी देखा नहीं हूं । जिले के सभी जेल अधीक्षक के साथ समीक्षा कर दूसरे जेल में शिफ्ट करने की दिशा में कार्रवाई करेंगे । वही जिलाधिकारी ने कहां की हाईकोर्ट द्वारा जारी अधिसूचना को देखने के बाद ही स्पष्ट कुछ कहं सकते हैं । जेल आईजी -मिथलेश मिश्रा ने कहां की जिलाधिकारी के रिपोर्ट आने के बाद कैदियों को दूसरे जेल में शिफ्ट करने का निर्णय लेंगे । अजय कानू के बारे में जेल आईजी ने कहां की नियमानुकूल कार्रवाई की जाएगी ।
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper