योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए खादी मंत्री ने सांसदों-विधायकों को लिखा पत्र

लखनऊ। प्रदेश खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी ने खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित रोजगारपरक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए राज्य के सभी सांसदों एवं विधायकों को पत्र लिखा है।
उन्होंने जन-प्रतिनिधियों से आग्रह किया है कि वे गांव की गरीबी को दूर करने, बेरोजगारी की समस्या को समाप्त करने एवं खासतौर से युवावर्ग के पलायन को रोकने में अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें। इसके अलावा उन्होंने प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियो को भी योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु निर्देश दिए हैं।
श्री पचौरी ने बताया कि प्रदेश में खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा ‘‘प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम’’ एवं ‘‘मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना’’ जैसी रोजगार परक योजनाएं संचालित हैं। खादी एवं ग्रामोद्योग को बढ़ावा देने क लिए सुस्पष्ट एवं गतिशील खादी नीति भी लागू की गई। इसके माध्यम से ग्रामीणों को स्वावलम्बी बनाने एवं स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन जानकारी के अभाव में अभी भी सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग इन योजनाओं का लाभ प्राप्त करने से वंचित हैं। इसीलिए प्रदेश के समस्त जनप्रतिनिधियों से इन योजनाओं की जानकारी अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने में पूर्ण सहयोग की अपेक्षा की गई है।
खादी मंत्री ने बताया कि वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारम में 69 प्रतिशत लोग गांव में निवास करते हैं। उत्तर प्रदेश आबादी के मामले में प्रथम एवं भौगोलिक क्षेत्रफल के तौर पर देश में चौथे स्थान पर है। यहां की 77 प्रतिशत आबादी आज भी गांव में रहती है। बिना गांव के विकास के देश का विकास संभव नही है। राज्य सरकार का प्रयास है कि ग्रामवासियों को उन्हीं के घर में रोजगार देकर उनकों स्वावलम्बी बनाया जाय।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper