Main

Today's Paper

Today's Paper

प्लाट बेच कर सुपरटेक ग्रुप अपना अधूरा प्रोजेक्ट पूरा करेगा

प्लाट बेच कर सुपरटेक ग्रुप अपना अधूरा प्रोजेक्ट पूरा करेगा

नोएडा: रियल एस्टेट कंपनी सुपरटेक अब लैंड बैंक को प्लाट के माध्यम से बेचकर पूंजी जुटाएगी। सुपरटेक ग्रुप ने वर्तमान में लगभग 125 एकड़ भूमि को प्लाट के माध्यम से बेचने की योजना बनाई है, जिससे लगभग 2300 करोड़ रुपये की पूंजी कंपनी के पास आएगी। इससे अधूरे पड़े प्राेजेक्ट को पूरा किया जाएगा। साथ ही प्राधिकरण व बैंक का बकाया भी चुकाया जाएगा।

सुपरटेक ग्रुप चेयरमैन आरके अरोड़ा ने बताया कि कोविड 19 पीरियड के बाद रियल एस्टेट में पूंजी की भारी कमी है। रियल एस्टेट प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए लिक्विडिटी की जरूरत है। प्लाट की बिक्री से तत्काल पूंजी मिल जाती है। साथ ही अब कस्टमर भी प्लाट लेने में ज्यादा रूचि दिखा रहे हैं। कंपनी ने वर्तमान में करीब 125 एकड़ भूमि बेचने की योजना बनाई है।

अरोड़ा ने बताया कि प्लाट बेचकर करीब 2300 करोड़ रुपये पूंजी जुटाने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें से 1000 करोड़ रुपये का भुगतान बैंकों को किया जाएगा, 300 करोड़ रुपये का भुगतान नोएडा प्राधिकरण के बकाए का होगा। बचा 1000 करोड़ रुपये अधूरा प्रोजेक्ट को पूरा करने में किया जाएगा।

अरोड़ा ने कहा कि सुपरटेक मिशन कंप्लीशन विशेष अभियान चला रहा है, जिसमें एक साल के अंदर 7000 घरों की उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्लाटेड डेवलपमेंट में एक साल के अंदर सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी।

नोएडा प्राधिकरण कार्यालय पर मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी बैठक करते हुए।
बिना सब लीज कराए बिल्डरों द्वारा फ्लैट क्रेताओं को कब्जा देने पर सीईओ ने जताई नाराजगी

प्रोजेक्ट जगह वर्ग फीट में

ग्रेटर नोएडा 8,73,000 वर्ग फीट यमुना एक्सप्रेस-वे 8,10,000 वर्ग फीट गुरुग्राम 16,65,000 वर्ग फीट गाजियाबाद क्रॉसिंग रिपब्लिक 2,43,000 वर्ग फीट मेरठ 3,60,000 वर्ग फीट रुद्रपुर 13,50,000 वर्ग फीट

Share this story