Main

Today's Paper

Today's Paper

पीएलआई योजना से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों…

पीएलआई योजना से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनों…

नोएडा । उन्होंने कहा कि ग्लोबल सप्लाई चेन का केंद्र बदल रहा है। साथ ही पीएलआई स्कीम से देश में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को बल मिला है। नोएडा में के रोबोट मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने यह बात कही। उन्होंने इस मौके पर कहा कि भारत में जैसे-जैसे ई-कॉमर्स सेक्टर और हेल्थ सेक्टर का विकास होगा रोबोट्स का इस्तेमाल बढ़ेगा। आने वाले समय में रोबोट्स डॉक्टर और नर्स के लिए मददगार साबित होंगे।

रोबोट बनाने वाली यह इकाई मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत अभियान को आगे बढ़ाती है। उन्होंने नोएडा की इस फैसिलिटी को विश्वस्तरीय करार दिया। उन्होंने कहा कि इस यूनिट में काफी बढ़िया  हुआ है। साथ ही हार्डवेयर के साथ सॉफ्टवेयर का इंटीग्रेशन काफी अच्छे ढंग से हुआ है।

लगभग हर सेक्टर में बड़े बदलाव हो रहे हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि इस समय रोबोटिक्स, ड्रोन, 5G, बैटरी स्टोरेज, सोलर मैन्युफैक्चरिंग, सेटेलाइट और अन्य टेक्नोलॉजीज में बहुत अधिक संभावनाएं हैं।

रोबोट बनाने वाली इस इकाई को का नाम दिया है। कंपनी ने 75 करोड़ रुपये के निवेश के साथ इस फैसिलिटी को बनाया है। यह इकाई 2.5 एकड़ क्षेत्र में बना हुआ है। कंपनी के को-फाउंडर और सीईओ संगीत कुमार ने बताया कि इस फैसिलिटी की खास बात यह है कि रोबोट के निर्माण में रोबोट की ही मदद ली जाती है।

Share this story