Main

Today's Paper

Today's Paper

FASTags ईंधन पर सालाना 20,000 करोड़ बचाने में मदद करेगा…

FASTags ईंधन पर सालाना 20,000 करोड़ बचाने में मदद करेगा…

नई दिल्ली । लोगों से लगतार फास्टैग का इस्तेमाल करने के लिए आग्रह किया जा रहा है। इस विषय पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को कहा कि टोल पर फास्टैग से भुगतान करने पर 20,000 करोड़ रुपये ईंधन की बचत कर सकते हैं। इसके साथ ही 10,000 करोड़ रुपये तक का राजस्व लिया जा सकता है। सड़क परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा पर लाइव स्थिति का आकलन करने के लिए एक रेटिंग सिस्टम को लॉन्च किया है।

हाईवे पर फास्टैग से भुगतान करना अनिवार्य कर दिया गया है, जिससे टोल प्लाजा पर लगने वाली लंबी कतार से छूटकारा मिलेगा। गडकरी ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि, इससे ईंधन की लागत पर प्रतिवर्ष 20,000 करोड़ रुपये की बचत होगी। इसके साथ ही इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह में 10,000 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष रॉयल्टी को बढ़ावा दिया जाएगा।

16 फरवरी 2021 से टोल प्लाजा पर फास्टैग के माध्यम से भुगतान को अनिवार्य करने के बाद टोल संग्रह में लगातार वृद्धि देखी गई है, जिस पर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने कहा कि फस्टैग के माध्यम से दैनिक टोल संग्रह 104 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। गडकरी ने कहा कि “टोलिंग के लिए एक नया जीपीएस आधारित सिस्टम चालू किया जा रहा है, जहां प्रवेश और निकास बिंदुओं के आधार पर यात्रा की जाने वाली दूरी के लिए राजमार्ग यात्रियों को भुगतान करना होगा।

Share this story