Main

Today's Paper

Today's Paper

सर्वे के मुताबिक तेज वृद्धि के बावजूद में सर्विसेज सेक्टर में रोजगार के मौकों में कमी दर्ज की गई

सर्वे के मुताबिक तेज वृद्धि के बावजूद में सर्विसेज सेक्टर में रोजगार के मौकों में कमी दर्ज की गई

नई दिल्ली । नौकरियों के मामले में अब भी राहत भरी खबर नहीं मिल सकी है। एक मासिक सर्वे में ऐसा कहा गया है। इस सर्वे के मुताबिक तेज वृद्धि के बावजूद फरवरी में सर्विसेज सेक्टर में रोजगार के मौकों में कमी दर्ज की गई। इस सर्वे के मुताबिक कंपनियों के कुल खर्चों में अचानक आई तेजी की वजह से रोजगार के अवसर घटे हैं। इंडिया सर्विसेज बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स फरवरी में 55.3 पर पहुंच गया जो जनवरी में 52.8 पर था।

कोविड-19 वैक्सीन से जुड़े अभियान की वजह से कारोबार को लेकर विश्वास बहाल हुआ है। इसके बल पर इंडेक्स लगातार पांचवें महीने फरवरी में 50 अंक के ऊपर रहा। उल्लेखनीय है कि पीएमआई पर 50 से ऊपर का आंकड़ा ग्रोथ को दिखाता है।

पांचवें महीने ग्रोथ देखने को मिली लेकिन पैनलिस्ट्स ने संकेत दिया है कि कोविड-19 महामारी और यात्रा से जुड़े प्रतिबंधों की वजह से सर्विसेज की डिमांड एक स्तर पर सीमित हो गई है।

भारत के प्राइवेट सेक्टर के आउटपुट में फरवरी में पिछले चार महीने में सबसे ज्यादा तेज गति से वृद्धि दर्ज की गई। कम्पोजिट पीएमआई आउटपुट इंडेक्स फरवरी में 57.3 पर पहुंच गया, जो जनवरी में 55.8 पर था। इसमें मैन्युफैक्चरिंग और सर्विसेज सेक्टर दोनों से जुड़े आंकड़े शामिल होते हैं।

इंडिया सर्विसेज पीएमआई में साथ ही कहा गया है कि कुल नए बिजनेस में ग्रोथ के बावजूद फरवरी में रोजगार में कमी देखने को मिली। कई कंपनियों का कहना है कि कोविड-19 से जुड़ी पाबंदियों के चलते यह स्थिति बनी हुई है।

Share this story