Main

Today's Paper

Today's Paper

यह स्मार्ट क्लास कक्षा-9 से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए होंगी…

यह स्मार्ट क्लास कक्षा-9 से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए होंगी…

गोरखपुर । एक कार्यकाल में पांच राष्ट्रीय और एक अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीतने वाली इस ग्राम पंचायत का प्राथमिक स्कूल प्रदेश का पहला ऐसा सरकारी स्कूल है, जिसके सभी क्लास स्मार्ट और कक्षाएं वातानुकूलित हैं। कोरोना संक्रमण काल में बंदी का लाभ उठाते हुए कायाकल्प योजना के तहत स्कूल को आदर्श बना दिया गया है।

यहां के प्राथमिक स्कूल में 280 छात्र नामांकित हैैं। यहां प्रधानाध्यापक, चार सहायक अध्यापक व शिक्षामित्र नियुक्त हैैं। यहां की सभी पांच कक्षाएं स्मार्ट हैैं। वाई-फाई युक्त डिजिटल लैब है, जहां बच्चे कंप्यूटर सीखेंगे। स्कूल में सीसीटीवी है। लाइब्रेरी बनाई गई है। हाजिरी के लिए बायोमेट्रिक मशीन है। बच्चों में सर्वांगीण विकास के लिए मीना मंच,  खेल का मैदान, कार्टून और समाचार चैनल युक्त टीवी और पार्क है तो स्वच्छता और स्वास्थ्य के लिए हैंडवाश यूनिट, आरओ प्लांट, वाटर कूलर और दिव्यांग के साथ छात्र-छात्राओं के लिए अलग-अलग शौचालय हैैं।

17 लाख रुपये में हुआ कायाकल्प

प्राइमरी की शिक्षा पाने वाले ग्राम प्रधान दिलीप त्रिपाठी ने बताया कि करीब 17 लाख रुपये में विद्यालय का कायाकल्प हुआ। 14वें वित्त निधि से 3.50 लाख से तीन शौचालय, मनरेगा से 3.25 लाख में चहारदीवारी बनाई गई। दिलीप ने स्कूल को गोद भी लिया है।

वित्तीय वर्ष 2016-17 व 2017-18 में नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा का सर्वोच्च पंचायती पुरस्कार

2016-17, 2017-18 व 2018-19 में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण राष्ट्रीय पुरस्कार

मालदीव का ग्लोबल यूथ पीस अंबेसडर अवार्ड

Share this story