Main

Today's Paper

Today's Paper

भारत में कभी वापसी नहीं कर पाएगा PUBG?

भारत में कभी वापसी नहीं कर पाएगा PUBG?

नई दिल्ली। दरअसल केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने आज एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि कई मोबाइल गेम हिंसक, अश्लील और आदत लगाने वाली हैं और पबजी इनमें से एक है। इसी वजह से सरकार भारतीय सांस्कृतिक मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए गेमिंग उत्कृष्टता केंद्र बनाएगी। आपको बता दें कि PUBG उन 100 ऐप्स में से एक है जिन पर सरकार ने पिछले साल बैन लगाया था। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कहा है कि मिनिस्ट्री VFX, गेमिंग और एनीमेशन से जुड़े कोर्स कराने के लिए गेम सेंटर बनाने वाली है। ताकि ऐसे गेम विकसित किये जाएं जिससे भारतीय कल्चर को बढ़ावा मिले।

जल्द भारत के कल्चर के हिसाब से बनेंगे गेम्स 
जावडेकर ने कहा कि सरकार भारत में गेमिंग सेंटर बनाएगी, जिसे जल्द ही लागू किया जा सकता है, जिससे भारतीय कल्चर को फायदा मिलेगा। पीएम मोदी की तरफ से मेड इन इंडिया मोबाइल गेमिंग ऐप को प्रमोट किया जाता है। मंत्री ने कहा कि यह घोषणा करते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय आईआईटी मुम्बई के साथ मिलकर गेमिंग और अन्य संबंधित क्षेत्रों में उत्कृष्टता केंद्र बनाने का फैसला किया है। हम तैयारी के आखिरी चरण में हैं और 2021 से नया सत्र शुरू हो जाएगा।

PUBG को टक्कर दे रहा है देसी ऐप FAUG

PUBG को कड़ा मुकाबला देने के लिए देसी गेम FAUG भारत में लॉन्च हो चुका है। इस गेम को लेकर लोगों में काफी दीवानगी देखने को मिली है। ये गेम गूगल प्ले स्टोर पर लॉन्च के बाद ही टॉप फ्री मोबाइल गेम बन गया था। इस गेम की कहानी ब्रेलर-स्टाइल पर आधारित हैं, जिसमे कोई हथियार नहीं है। पहली कहानी लद्दाख के गलवान घाटी की है जहां पिछले साल भारतीय और चीनी सैनिको के बीच झड़प हुई थी।

Share this story