(Rudraksha )
(Rudraksha )

राशि के अनुसार रुद्राक्ष (Rudraksha ) को धारण किया जाए,होता है.शुभ

रुद्राक्ष : हिंदू मान्यता के अनुसार रुद्राक्ष (Rudraksha ) की उत्पत्ति भोलेनाथ के आंसूओं से हुई है. इसलिए इसे बहुत ही शुभ माना जाता है. भगवान शिव की कृपा पाने के लिए अक्सर लोगों को रुद्राक्ष धारण करते देखा है. रुद्राक्ष का संबंध देवी-देवताओं और नवग्रहों से है.इसके साथ ही कहा जाता है कि रुद्राक्ष धारण करने से पहले उसकी प्राण-प्रतिष्ठा अवश्य कर लें. अगर राशि के अनुसार रुद्राक्ष को धारण किया जाए, तो शुभ होता है.

राशि के अनुसार धारण करें रुद्राक्ष
मेष राशि: मेष राशि के जातकों को एक मुखी रुद्राक्ष दारण करने की सलाह दी जाती है. इसके साथ ही तीन मुखी या पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करना भी शुभ माना गया है.

वृष राशि: वृषभ राशि के जातक अगर लाइफ में शुभ फलों की प्राप्ति का इंतजार कर रहे हैं, तो चार मुखी, छह मुखी और चौदह मुखी रुद्राक्ष धारण कर सकते हैं.

मिथुन राशि: मान्यता है कि इस राशि के जातक रुद्राक्ष की प्राण-प्रतिष्ठा करवाकर चार, पांच या तेरह मुखी रूद्राक्ष धारण कर सकते हैं. इससे सौभाग्य की प्राप्ति होती है.

कर्क राशि: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कर्क राशि के लोग तीन, पांच या फिर गौरी शंकर रुद्राक् भी धारण कर सकते हैं.

सिंह राशि: इस राशि के जातकों को एक मुखी, तीन या पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने की सलाह दी जाती है. इससे शुभ फलों की प्राप्ति होती है.

कन्या राशि: इस राशि के जातक जीवन में सकारात्मक परिणाम और भगवान शिव की कृपा पाने के लिए चार, पांच या तेरह मुखी रुद्राक्ष धारण करें.

See also  अच्छी नौकरी के लिए कुंडली से लें दिशा-निर्देश

तुला राशि: इन्हें चार, छः अथवा चौदह मुखी रुद्राक्ष पहनना शुभ रहता है. इसलिए शुभ फलों की प्राप्ति के लिए ये धारण करें.
वृश्चिक राशि: जीवन ने सुख-समृद्धि बनाए रखने के लिए वृश्चिक राशि के लोगों को तीन, पांच मुखी या गौरी-शंकर रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

धनु राशि: एक मुखी, तीन या पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करना धनु राशि वालों के लिए शुभ माना गया है।

मकर राशि: मकर राशि के जातक भगवान शिव की कृपा पाने के लिए चार मुखी, छः या चौदह मुखी रुद्राक्ष धारण कर सकते हैं. ये रुद्राक्ष इनके लिए शुभ फलदायी होते हैं.

कुंभ राशि: इस राशि के जातक चार, छः या फिर चौदह मुखी रूद्राक्ष धारण करें.

मीन राशि: जीवन में सुख-शांति बनाए रखने के लिए इस राशि के जातकों को तीन, पांच या गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करने की सलाह दी जाती है.