मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में निलंबित जेल कर्मियों की होगी बर्खास्तगी


बागपत। पिछले दिनों बागपत जिला जेल में माफिया मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हुई हत्या के समय बागपत जेल में तैनात रहे जेल अधिकारियों व कर्मियों के खिलाफ जल्द ही बर्खास्तगी की कार्रवाई हो सकती है। इस मामले में विभाग की ओर से जांच कर रहे जेल अधीक्षक आशीष तिवारी ने निलंबित जेल कर्मियों को जवाब देने के लिए रिमाइंडर भेजा है। इन्होंने मियाद पूरी होने के बाद भी अपना जवाब नहीं दिया है। माना जा रहा है कि जवाब मिलने के बाद इन जेल कर्मियों की बर्खास्तगी की कवायद तेज की जाएगी।

जिन अधिकारियों व कर्मियों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई होनी है उसमें बागपत जिला जेल के तत्कालीन जेलर उदय प्रताप सिंह, डिप्टी जेलर शिवाजी यादव व एसपी सिंह के अलावा हेड वार्डर अरजिंदर सिंह व वार्डर माधव कुमार शामिल हैं। इन सबको दोषी माना गया था। जांच के दौरान कुख्यात अपराधियों से इन जेल कर्मियों की मिलीभगत का खुलासा हुआ था। जेल विभाग की आंतरिक जांच में जेलर और डिप्टी जेलर समेत पांच जेलकर्मियों को दोषी पाया गया था। 6 अगस्त को इन अधिकारियों व कर्मियों को नोटिस देकर तीन सप्ताह के भीतर जवाब मांगा गया था। एडीजी कारागार चंद्र प्रकाश ने बताया कि इस मामले में संबंधित जेल अधिकारी व कर्मियों को दोबारा नोटिस भेज कर जवाब मांगा गया है।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com