जब एनेक्सी के बाहर सड़क पर सिरफिरे ने पढ़ी नमाज़,गिरफ्तार,पुलिसकर्मियों को कप्तान ने किया निलंबित

अपराध संवाददाता

लखनऊ 13 अक्टूबर। सर पर हरे रगं की पगड़ी सफेद कुर्ता पायजामा बीच सड़क पर बिछी जानमाज़ समय लगभग शाम सात बजे और उस जनमाज़ पर नमाज़ अदा करता हुआ एक शख्स जगह भी ऐसी जिसका नाम सुन कर आप चैंक जाएगे जी हा उस जगह का नाम है सविचालय भवन के बाहर की सड़क । हाई सिक्योरिटी ज़ोन सचिवालय भवन के गेट नम्बर एक के पास शुक्रवार की शाम लगभग 7 बजे एक सिरफिरे व्यक्ति ने सड़क के बीच मे जानमाज़ बिछा कर नमाज़ अदा करना शुरू कर दी तो वहाँ लम्बा जाम लग गया लोग समझ नही पा रहे थे कि ये व्यक्ति सड़क के बीच एनेक्सी के पास नमाज़ क्यूं पढ़ रहा है सड़क पर जानमाज़ बिछा कर नमाज़ अदा कर रहे इस शख्स की वजह से सड़क के दोनो तरफ गाडियो की लम्बी कतारे लग गई लेकिन इस शख्स ने नमाज़ की भी बेहुरमती करते हुए नमाज़ के बीच मे ही मोदी विरोधी नारे लगाना शुरू कर दिए जबकि मज़हबे इस्लाम मे ये पूरी तरह से मना है कि ऐसी जगह पर नमाज़ अदा नही की जासकती है जहाँ पर लोगो को परेशानी हो । नमाज़ की सूरत मे नमाज़ी कुछ बोल भी नही सकता लेकिन नमाज़ की बेहुरमती कर रहे इस सिरफिरे व्यक्ति ने नमाज़ के बीच मे नारे लगा कर नमाज़ की भी बेहुरमती की। सड़क के बीच मे जानमाज़ बिछा कर नमाज़ अदा किए जाने की सूचना पर वरिष्ट अधिकारी मौके पर पहुॅचे और अव्यवस्था फैलाने वाले इस शख्स को गिरफ्तार कर लिया। इस सम्बन्ध मे एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कड़ा रूख अख्तियार करते हुए वहां डियूटी पर तैनात हज़रत गंज कोतवाली मे तैनात सिपाही मनोज और यातयात सिपाही आनन्द प्रकाश को निलम्बित कर दिया है। सड़क पर नमाज़ अदा कर रहे सिरफिरे व्यक्ति का नाम रफीक अहमद है और वो ऐशबाग बाज़ार खाला का रहने वाला है। पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

 

इस सम्बन्ध मे ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फंरगी महली का कहना है कि एनेक्सी के बाहर सड़क पर नमाज़ अदा करने गए व्यक्ति ने सड़क पर जानमाज़ बिछा कर ये शो करने की कोशिश की कि जैसे वो नमाज़ पढ़ रहा हो लेकिन वो हरगिस नमाज़ नही पढ़ रहा था क्यूकि नमाज़ मे किसी किस्म की नारे बाज़ी नही की जाती है और किसी को तकलीफ देकर नमाज़ अदा करने का हुक्म नही है उन्होने कहा जिस जगह पर ये शिररफिरा व्यक्ति नमाज़ पढ़ रहा था वहा पर एक नही बल्कि दो मस्जिदे है जहां वो नमाज अदा कर सकता था । उन्होने कहा कि एनेक्सी के बाहर सड़क पर नमाज़ पढ़ने वाला व्यक्ति यही ऐशबाग क्षेत्र का रहने वाला है और ज़्यादातर लोग उससे वाक़िफ है कि न वो कोई आलिमे दीन है न मौलाना है बल्कि वो सिर्फ एक सिरफिरा व्यक्ति है जोकि कई बार इस तरह की हरकते कई जगह कर चुका है उन्होने रफीक द्वारा की गई इस हरकत की कड़े शब्दो मे निन्दा करते हुए कहा कि मुसलमानो का इस शख्स की इस बेहूइदी हरकत का कोई वासता नही है।

=>