टेक मित्र

फेसबुक के 3 करोड़ यूजर्स की डिटेल्स चोरी, जाने कहीं आप की तो नही

नई दिल्ली। बीते काफी वक्त से डेटा चोरी को लेकर फेसबुक काफी चर्चा में है। ताजा मामले की बात करे तो सोशल मीडिया के जरिए आ रही जानकारी मे बताया जा रहा है कि यूज़र्स के अकाउंट में सेंध लगाकर करीब 29 मिलियन (2.9 करोड़) यूजर्स का डेटा चोरी कर लिया गया है। हालांकि कंपनी ने बताया कि हैकर्स ने सेंसिटिव डेटा की चोरी नहीं की है।

कंपनी के मुताबिक, हैकर्स ने 15 मिलियन यूजर के नाम, कॉन्टैक्ट डिटेल्स, फोन नंबर और मेल आईडी की चोरी की है। इसके अलावा 14 मिलियन यूजर की जो जानकारी चोरी की गई है, उनमें उसका यूजरनेम, जेंडर, लैंग्वेज, रिलेशनशिप स्टेटस, रिलिजन, होमटाउन, करेंट सिटी, बर्थ डेट, किस डिवाइस से फेसबुक को एक्सेस किया जा रहा, यूजर की क्वालिफिकेशन, वर्क और जहां-जहां उन्होंने चेक-इन (विजिट) किया है, सभी जानकारियों की चोरी की गई है।

किसी भी यूजर की इन जानकारियों का इस्तेमाल कर हैकर उसकी तरफ से मेल ड्राफ्ट कर उसके दोस्तों को रुपयों के लिए ठग सकते हैं। या फिर इनके इस्तेमाल से वे फेसबुक के कर्मचारी या कोई दोस्त बनकर संपर्क कर सकते हैं। हो सकता है कि इनके इस्तेमाल से वे कम्प्यूटर तक वायरस पहुंचाने वाला कोई फेक मेल तैयार कर लें।

पिछले महीने सितंबर में करीब पांच करोड़ अकाउंट पर हुए साइबर अटैक में हैकर्स ने खातों के एक्सेस टोकन चुरा लिए, जिसकी वजह से तब कई फेसबुक यूजर्स के अकाउंट खुद ब खुद लॉगआउट होने लगे थे। इससे प्रभावित हुए अकाउंट्स की डिटेल मांगी गई थी। उसी के जवाब में फेसबुक के वाइस प्रेजिडेंट ने हैकर्स के डेटा चोरी किए जाने की जानकारी दी है।

फेसबुक ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि, हम डेटा चोरी की जांच करने के लिए FBI के साथ काम कर रहे हैं और उनकी मदद कर रहे हैं। बता दें कि पिछले महीने 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स के अकाउंट की सिक्योरिटी में सेंध लगने की बात सामने आई थी, जिसके बाद कंपनी ने फौरन अपना ‘View As’ हटा लिया था।

फेसुबक ने माना कि हैकर्स ने फेसबुक के फीचर ‘View As’ को यूजर्स के अकाउंट को हैक करने के लिए इस्‍तेमाल किया। जो भी यूजर्स इससे प्रभावित हुए हैं, उनसे अपने अकाउंट को एक बार फिर से री-लॉगिन करने को कहा गया था। फेसबुक के मुताबिक कंपनी ने सुरक्षा उपायों से जुड़े उपयोग को दुरुस्‍त कर लिया है और इस सारी घटना की जानकारी हेड ऑफ सिक्‍योरिटी को दी गई है।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button