निर्माणाशाला में रखी प्रतिमाएं खण्डित कर हुई माहौल बिगाडने की कोशिश

अंबेडकरनगर। वर्तमान समय में जब नवरात्र व्रत और देवी पूजन सबाब की ओर बढ चला है कि ऐसे में कुछ अराजकतत्वों ने धार्मिक विद्वेष फैलाने और माहौल बिगाडने की साजिश के तहत निर्माणशाला में रखी प्रतिमाएं खण्डित कर दी। हांलाकि इसकी जानकारी होने के बाद लोगों में आक्रोश फैल गया था। लेकिन पुलिस की सक्रियता से अराजकतत्वों के मंसूबे पर पानी फिर गया। पुलिस की चौकसी के दावों को धता बताते हुए मूर्ति कलाकार के यहां रखी देवी प्रतिमाओं को शरारती तत्वों ने रात में क्षतिग्रस्त कर त्योहार के माहौल में बिष घोलने का प्रयास किया। सूचना के बाद तहसील के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति की जानकारी ली मामले की जानकारी होते ही इलाके में तनाव फैल गया बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचने लगे सुरक्षा के दृष्टिकोण से मौके पर पुलिस बल की तैनाती की गई है।
मामला जहांगीरगंज थाना की स्थानीय बाजार का है।जहांगीरगंज कस्बे के नईबाजार जाने वाले राम जानकी मार्ग पर मूर्ति कलाकार रामधारी प्रजापति का मूर्ति निर्माण केंद्र स्थित है।वर्तमान में यहां दुर्गा प्रतिमा सहित कई मूर्तियां तैयार अवस्था में रखी हुई थी जिनमें से कुछ दुर्गा प्रतिमाएं व अन्य गणेश आदि की छोटी प्रतिमाएं राजेसुल्तानपुर तथा जहांगीरगंज व मामपुर तथा नरियांव कस्बे में स्थापित होने हेतु रविवार को ले जाई जाने वाली थीं। इसी बीच बीती शनिवार की रात शरारती तत्वों ने वहां पहुंचकर आधा दर्जन प्रतिमाओं को क्षतिग्रस्त कर लक्ष्मी गणेश की दो छोटी प्रतिमाओं को पीछे कूड़ा करकट के बीच फेक दिया। रात को हुई उक्त घटना की जानकारी तब हुई जब रामधारी व उनके सहयोगी कलाकार रविवार की भोर में वहां पहुँचे।
घटना की जानकारी होते ही बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचने लगे तो वहीं सूचना के बाद पुलिस बल के साथ ही थानाध्यक्ष बीडी तिवारी एसडीएम भरत लाल सरोज क्षेत्राधिकारी आरपी राय नें मौके पर पहुंचकर लोगों से पूछताछ की। इलाके में तनावपूर्ण माहौल के बीच विधायक अनीता कमल ने भी मौके पर पहुंचकर स्थित की जानकारी की और जरिए दूरभाष जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से वार्ता कर मामले में कारवाई की बात कही। क्षेत्राधिकारी आरपी राय के मुताबिक मामले में शरारती तत्वों की पहचान कर उनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper