डीजल पहुंचा 75 रूपये 46 पैसे प्रति लीटर पर

नई दिल्ली। सरकार से मिली राहत के बाद तेल की कीमत एक बार फिर अपने ​अधिकतम स्तर पर पहुंच गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज एक लीटर डीजल पर आठ पैसे की बढ़ोतरी देखी गई। इसी के साथ डीजल 75 रुपये 46 पैसे प्रति लीटर का हो गया, जो अब तक की सबसे ऊंची कीमत है। तेल कंपनियों ने आज पेट्रोल की कीमत में कोई बदलाव नहीं किये। दिल्ली में पेट्रोल आज 82 रुपये 72 पैसे प्रति लीटर की दर से बिक रहा है।

पिछले 10 दिनों की बात करें तो डीजल की कीमत में दो रुपये 51 पैसे की बढ़ोतरी हुई है। केंद्र की मोदी सरकार ने चार अक्टूबर को पेट्रोल डीजल की कीमत पर दो रुपये 50 पैसे की कटौती की थी। लेकिन पिछले 10 दिनों में जिस कदर दाम बढ़े हैं आम जनता को इससे राहत नहीं मिली। चार अक्टूबर को एक लीटर पेट्रोल की कीमत दिल्ली में 84 रुपये और डीजल 75 रुपये 45 पैसे थी। 10 दिनों में पेट्रोल एक रुपया 22 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है।

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के मद्देनजर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेल कंपनियों के प्रमुखों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों और कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से विकास पर पड़ने वाले असर पर चर्चा होगी। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि तीसरी सालाना बैठक में तेल और गैस खोज और उत्पादन क्षेत्र में निवेश आकर्षित करने पर भी चर्चा होगी।

आपको बता दें की डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से महंगाई बढ़ने की संभावना रहती है। क्योंकि इससे पूरा ट्रांसपोर्ट प्रभावित होता है। बढ़ती पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज ट्वीट कर कहा, ”दस दिनों में ही मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीज़ल पर अपनी जुमलापूर्ण राहत वापिस ले ली! ₹1.5 की मामूली राहत के बाद (दिल्ली में) पेट्रोल के दाम ₹1.22 बढ़े, डीज़ल के दाम ₹2.51 बढ़े। इसे कहते है, Rollback का Rollback! मोदी जी का छल, जनता पर बोझ, हर पल!”

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper