शराब कारोबार को लेकर नौबतपुर में किसान की हत्या , चार गिरफ़्तार

 पुलिस ने लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा ,कर रहीं जांच

>> मामले का जल्द चार्जशीट दाखिल कर ,आरोपियों के ख़िलाफ़ एसपीडी ट्रायल चलाकर सज़ा दिलाने का काम करेंगी पुलिस – एसएसपी
>> पंचायत के सरपंच ने की थी लिखित शिकायत ,पर पुलिस ने नहीं की कार्रवाई
>> मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विचारों को ठेंगा दिखा रहें है स्थानीय पुलिस ,और बड़े पुलिस अधिकारियों को देते है गलत जानकारी

पटना ( अ सं ) । दशहरा के विसर्जन के सुबह ही नौबतपुर में एक किसान की हत्या कर दिया गया हैं । हत्या का कारण जो बातें सामने आ रहीं है वह गंभीर हैं । शराब कारोबारी का विरोध करने पर राम किनकिनर दास  की हत्या की गयी हैं ।पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुये चार को गिरफ़्तार कर लिया है । टड़वां गांव में शराबबंदी के बाद भी बड़े पैमाने पर महुआ शराब का कारोबार हो रहा है। दरियापुर पंचायत के सरपंच ने पूर्व में थाने को लिखित शिकायत किया था।
शनिवार को सुबह -सुबह ,शराब कारोबारियों का कहर एक किसान पर पड़ा है। नौबतपुर थाने के टड़वां गांव में महुआ शराब का अवैध निर्माण और कारोबार लंबे समय से चल रहा है। इस अवैध धंधे में महादलित बस्ती के कई लोग लगे हैं । राम किनकिनर दास नामक किसान विरोध करता था। अवैध शराब कारोबारियों को ऐसा शक था की यहीं पुलिस को सूचना देता है जिसके कारण परेशानी होती हैं । इसी बात को लेकर कई अवैध शराब कारोबारी राम किनकिनर दास और  उसके परिजनों पर टूट पड़े। लाठी -डंडा से राम किनकिनर दास  को बेरहमी पूर्वक पिटाई कर दिया । अस्पताल पहुंचता की चंद कदम चलने के बाद ही रास्ते में दम तोड़ दिया । इस घटना को लेकर आम लोगों में पुलिस के प्रति आक्रोश हैं । ग्रामीणों का कहना है की पंचायत के सरपंच ने पूर्व में लिखित शिकायत किया था लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं किया और किसान की हत्या हो गयी ।
एसएसपी मनु महाराज ने बताया की घटना की सूचना पाकर पुलिस मौके वारदात पर पहुंच चुकी है और लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं । पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुये मुख्य चार आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है ।गिरफ्तार आरोपियों के ख़िलाफ़ पुलिस जल्द चार्जशीट दाखिल कर एसपीडी ट्रायल चलाकर सज़ा दिलाने का काम करेगी ।शराब निर्माण और अवैध कारोबार के ख़िलाफ़ पुलिस लगातार अभियान चला रही है और प्रतिदिन गिरफ़्तारी होती है । लापरवाही जो करेंगे वह नपेंगे ।

पटना के पश्चिमी इलाके में अवैध शराब का कारोबार बड़े तौर पर स्थानीय पुलिस की मिलीभगत से फल-फूल रहा है। सच तो यह है की पुलिस वाले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विचारों को अगुंठा दिखा रहें हैं ।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper