दिन-दहाड़े बेटों ने पिता पर चलायी गोली, रेता गला

शहर में दहशत का माहौल, एसपी ने किया मौका-ए-वारदात का निरीक्षण

फतेहपुर। दिन दहाड़े कलयुगी पुत्र ने प्रार्पटी के चलते अपने रिटायर सिपाही पिता को साथियों के साथ मिलकर गोली मारने के बाद गला रेतकर हत्या कर दी इस सनसनी खेज वारदात से इलाके मे दहशत का माहौल कायम हो गया वहीं सूचना पाते ही पुलिस अधीक्षक राहुल राज समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करने के बाद हत्यारों की गिरफ्तार करने के लिए टीम रवाना की। शहर के शांतिनगर मोहल्ला निवासी शिवनन्दन का पुत्र गोवर्धन मिश्रा 65 वर्ष जो सेवानिवृत्त दीवान था बताते हैं कि आज दिन मे लगभग 11 बजे वह अपने पुत्र देवेन्द्र के साथ मोटर साइकिल से अपना इलाज कराने डाक्टर पंकज के यहां आया था वापस लौटते समय जैसे ही बाइक जिजिआईसी गर्ल्स इण्टर कालेज आईटीआई रोड़ पहुंचे तभी प्रार्पटी को लेकर पहली पत्नी का पुत्र रविशंकर उर्फ बब्बी मिश्रा अपने अन्य साथियों के साथ बाइक से आया और अपने पिता को गोली मार दी जिससे वह मौके पर गिर गये घटना के बाद देवेन्द्र अपनी जान बचाकर भाग खड़ा हुआ। इतना होने पर ही हमलावरों को सब्र न हुआ तो बाका से गर्दन काट दिया जिस वक्त हमलावर घटना को अंजाम दे रहे थे तो सैकड़ों लोग आस पास खड़े तमाशा देख रहे थे लेकिन किसी की इतनी हिम्मत नही हुयी कि उन्हें बचा ले।
घटना के बाद बड़े ही आराम से मौके से फरार हो गये, जाते समय मौके पर हमलावर एक तमंचा व कारतूस भी छोड़ गये वहीं हमलावरों मे से एक की मोटर साइकिल नम्बर यूपी71आरयू/8241 भी मौके पर छोड़ गये। घटना के बाद जहां क्षेत्र मे सनसनी फैल गयी वहीं आसपास के दुकानदार अपनी-अपनी दुकान का सटर बंद कर भाग खड़े हुए। दिन दहाड़े हुए सनसनी खेज हत्या की सूचना पाते ही पुलिस अधीक्षक राहुल राज पुलिस बल के साथ घटनास्थल पहुंचे तथा बारीकी से निरीक्षण करने के बाद आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिये। वही पुलिस अधीक्षक सदर अस्पताल पहुंचे जहां मृतक की पत्नी शशि मिश्रा एवं पुत्री सुचि मिश्रा पत्नी आशीष ने पुलिस अधीक्षक को घटना के सम्बन्ध मे जानकारी दी वहीं मृतक की पुत्री सुचि मिश्रा ने बताया कि उसके पति आशीष, देवर गौरव , ससुर प्रदीप दुबे व सौतेला भाई रविशंकर उर्फ बब्बी ने प्रार्पटी के लालच मे उसके पिता की हत्या किया है।
बताते चले कि आईटीआई रोड़ मे हर वक्त डायल 100 मुस्तैद रहता है उसके बावजूद भी दिन दहाड़े बेखौफ हमलावरों ने घटना को अंजाम दे दिया और आराम से फरार हो गये। वहीं मृतक की पुत्री ने बताया कि 10 अक्टूबर को उसके पिता ने पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र भी दिया था उसके बावजूद भी पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की जिसके चलते आज यह घटना हुयी है अगर पुलिस इसे गंभीरता से लेती तो उसके पिता जिंदा रहते लेकिन पुलिस की शिथिलता के चलते अपराधियों के हौसले बुलंद है और घटना को अंजाम देने मे नही चूकते हैं वहीं मृतक के पुत्र ने पांच लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी है जिस पर पुलिस मुकदमा पंजीकृत कर हमलावरों की तलाश मे जुट गयी है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper