अयोध्या आएंगी दक्षिण कोरिया की फर्स्ट लेडी, दीपोत्सव में होंगी शामिल

नई दिल्ली। दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग सूक 4 से 7 नवंबर तक भारत की यात्रा पर आ रही हैं। वह 6 नवंबर को अयोध्या में होने वाले दीपोत्सव समारोह में मुख्य अतिथि होंगी। अपनी यात्रा के दौरान किम जुंग सूक अयोध्या में रानी सुरीरत्न (हिव ह्वांग ओक) स्मारक के भूमि पूजन कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगी।

इसी साल जुलाई में कोरिया के राष्‍ट्रपति के भारत दौरे के दौरान राजकुमारी सुरीरत्न के स्मारक बनाने को लेकर दोनों देशों के बीच सहमति बनी थी। मून की यात्रा ने दोनों देशों के संबंधों को नई ताकत प्रदान की। इसी को आगे बढ़ाते हुए अब सूक अयोध्या में रानी सुरीरत्न (हिव ह्वांग ओक) स्मारक के भूमि पूजन कार्यक्रम में हिस्सा लेंगी।

मान्यता के मुताबिक आज से तकरीबन 2000 साल पहले अयोध्या की रानी ने दक्षिण कोरिया के राजा से शादी की थी। बताया जाता है कि कोरियाई राजघराने की पहली महारानी ओक का जन्म अयोध्या में हुआ था। 16 साल की उम्र में उन्हें एक सपना आया और वो अपने पति की तलाश में साउथ कोरिया पहुंची थीं। वहां जाकर उन्होंने साउथ कोरिया के राजा से शादी कर ली। दो हजार साल पहले अयोध्या की राजकुमारी सुरीरत्ना को 16 साल की उम्र में एक दिन सपना आया, जिसमें बताया गया था कि उन्हें समुद्र पार करने के बाद पति की प्राप्ति होगी। इस बात को जब उनके माता-पिता को बताया तो उन्हें हां कर दी और वो यात्रा पर निकल गई।

नाव से सुरीरत्ना दक्षिण कोरिया पहुंची और वहां के राजा सूरो से शादी कर ली। जिस नाव से राजकुमारी कोरिया पहुंची थीं, उसे आज भी कोरिया वासियों ने सहेजकर रखा है। प्राचीन रिश्तों की ये मजबूती भारत और कोरिया के त्यौहारों पर भी नजर आती है।

loading...
Loading...

Check Also

कैबिनेट फैसला : 3.23 लाख व्यापारियों के बकाए कर पर ब्याज व पेनल्टी माफ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के 323439 व्यापारियों को बकाए कर पर ब्याज और अर्थदंड …