प्रधानमंत्री मोदी की दुश्मनों को खुली चेतावनी

नई दिल्ली। आज एटमी हथियार से लैस पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत समंदर में अपनी पहली पेट्रोलिंग के बाद स्वदेश लौट आया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरिहंत की टीम का स्वागत किया और इस पनडुब्बी को दुश्मनों के लिए चुनौती बताया। इसके साथ ही भारतीय सेना अब जमीन, समंदर और हवा में एटमी हमले का जवाब देने की क्षमता से लैस हो गई है।

पीएम मोदी ने अरिहंत की टीम को संबोधित करते हुए कहा, ‘आपका ये अभियान सुरक्षा और संरक्षा के लिए तपस्या है। अरिहंत का अर्थ है दुश्मनों को नष्ट करना। ये देश की सुरक्षा के लिए उपलब्धि है। एक बड़ा कदम है।’

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘अरिहंत भारत के दुश्मनों के लिए खुली चेतावनी है कि भारत के खिलाफ कोई दुस्साहस नहीं करे। सारा भारत आपका (अरिहंत) कृतज्ञ है। आज की ये सफलता है जिसे भारत ने अपने बल बूते हासिल किया है। ‘ उन्होंने कहा, ‘भारत एक शांतिपूर्ण देश है। ये हमारी कमजोरी नहीं है। ये हमारी शक्ति है। भारत किसी को छेड़ता नहीं है लेकिन कोई छेड़ दे तो उसे छोड़ता नहीं है।’

आईएनएस अरिहंत के सेना में शामिल होने से भारत अब तिहरे एटमी हमले का मारक जवाब दे सकता है। जमीन पर अग्नि मिसाइल, हवा में लड़ाकू विमान और जल में अरिहंत के माध्यम से भारत एटमी हमलों का जवाब आसानी से दे सकता है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper