सबसे ज्यादा बसूली के बाद भी, एसबीआई का मुनाफा 40 फीसदी गिरा

मुंबई। चालू वित्त वर्ष की 30 सितंबर को खत्म हुई तिमाही में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने मुनाफे में साल-दर-साल आधार पर 40 फीसदी की गिरावट दर्ज की है। सरकारी बैंक के मुताबिक, जुलाई-सितंबर तिमाही में उसका मुनाफा घटकर 944.87 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में 1,581.55 करोड़ रुपये था।

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बैंक ने 4,876 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया था।

बैंक ने एक बयान में कहा, “चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में परिचालन मुनाफे में 30.47 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जोकि 13,905 करोड़ रुपये रहा, जबकि पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में यह 19,999 करोड़ रुपये था। इस गिरावट का मुख्य कारण वित्त वर्ष 2018-19 की दूसरी तिमाही में ट्रेडिंग आय में कमी आना है और कंपनी को एसबीआई लाइफ की हिस्सेदारी बेचने से एक बार 5,436 करोड़ रुपये की आय हुई है।“

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बैंक की ब्याज आय में 12.48 फीसदी की तेजी आई, जोकि 20,906 करोड़ रुरपये रही, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 18,586 करोड़ रुपये थी।

कंपनी ने समीक्षाधीन तिमाही में फंसे हुए कजरे की भरपाई के लिए 10,184.50 करोड़ रुपये का प्रावधान किया, जबकि एक साल पहले की समान अवधि में कंपनी ने 16,750.20 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था।

जुलाई-सितंबर की अवधि में बैंक का सकल एनपीए (फंसे हुए कर्जे) बढ़कर 9.95 फीसदी हो गया, जोकि पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 9.83 फीसदी था।

=>