वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण और मिलावटी खाद्य पदार्थों से हो  सावधान ! डॉ. वेद प्रकाश 

लखनऊ :  दिवाली मिठाइयों प्रकाश एवं  पटाखों का त्यौहार है, दिवाली का पर्व खुशियां लेकर आता है, वही पर यह  पर्व श्वास  रोगियों के लिए परेशानी का कारण बन जाता है, जिससे अस्पताल में बदलते हुए मौसम, वायु प्रदूषण,मिलावटी खाने एवं बड़े हुए पराग कणों के कारण दिवाली के समय अस्पतालों में रोगियों की संख्या बढ़ जाती है, इस बात को गम्भीरता से लेते हुए, आज को किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के, डिपार्टमेंट ऑफ पल्मोनरी एण्ड क्रिटिकल केयर मेडिसन , डाॅ वेद प्रकाश ने प्रेस वार्ता कर, इस दीपावली के अवसर पर, वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण और मिलावटी खाद्य पदार्थो के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव एवं उनसे बचाव के बारे में लोगो को महत्वपूर्ण बात कही जिससे दमा और सीओपीडी मुख्य स्वास्थ्य की बीमारियां हैं इन बीमारियों से पीड़ित मरीजों में श्वास फूलना, छाती में जकड़न, खासी में सीटी बजना, जैसे लक्षण होते हैं    
पटाखो  से निकलने वाले   वायु प्रदूषण ,ध्वनि प्रदूषण, के  
 
पटाखो  से निकलने वाले   वायु प्रदूषण ,ध्वनि प्रदूषण, के  
कारण मरीजो में अस्थमा के मरीजो की केजीएमयू के ओपीडी में हाल ही में इस प्रकार की मरीजों की संख्या में लगभग दोगुनी तक इजाफा हो जाता है यह देखा गया है कि पटाखों से उठने वाले धुए से अस्थमा ,एलर्जी एवं सीओपीडी के मरीजों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है हालाकि सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे मरीजों को ध्यान में रखते हुए पटाखे छुड़ाने एवं एंटीमनी   लिथियम मर्करी आरसेनिक लेड एवं बेरियम साल्ट  से बने पटाखों एवं लडियो  की बिक्री कोर्ट प्रतिबंधित किया है  
 
इन सावधानियों को बरते 
 
1 दमे के मरीजों को पटाखों और धुंए से दूर रहना चाहिए ! 
2 ताजे फल सब्जिया और घर में बनी मिठाइयों का करे स्तेमाल !
3 गर्भवती महिलाओं ,बच्चो और बुजूर्गो को  घर के अंदर रखे और साथ ही खिड़की दरवाजे बंद रखे !
4 डॉक्टर द्वारा अस्थमा एक्शन प्लान के बारे में जाने ! 
5 स्वास्थ्य बिगड़ने पर अपने चिकित्सक से मदद ! 
 
 
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper