दिसंबर माह से होगा ई-पास मशीन से अनाज वितरण

मिर्जापुर। राशन की कालाबाजारी रोकने के लिए शहरी क्षेत्रों की तरह ग्रामीण क्षेत्रों में इलैक्ट्रॉनिक प्वाइंट आफ सेल (ई पास) मशीन मड़िहान तहसील के सभी 98 कोटेदारों को दे दी गई है। दिसंबर माह से लाभार्थियों को ई पास मशीन से दिया जाएगा खाद्यान्न। कोटेदारों को दिया गया मशीन चलाने का प्रशिक्षण। खाद्यान्न वितरण में आएगी पारदर्शिता। मड़िहान उपजिलाधिकारी सविता यादव के नेतृत्व में तहसील सभागार में क्षेत्र के कोटेदारों की बैठक बुलाई गई। इस दौरान बताया गया कि अगले माह से ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली का खाद्यान्न ईपास मशीन पर अंगूठा लगाकर ही दिया जाएगा। जिससे लाभार्थियों की शिकायत दूर हो सकेगी, इस मशीन से खाद्यान्न वितरण में पूर्ण रूप से पारदर्शिता आएगी। कार्डधारक को अंगूठा पंच करते ही खाद्यान्न की रसीद प्राप्त हो सकेगी, जिसमे राशन की मात्रा और उसका रेट भी लिखा रहेगा । कोटेदारों की मनमानी अब नहीं चल पाएगी। इस मशीन में लॉग इन पासवर्ड के जरिए कोटेदार इंस्टॉल करके कार्ड धारकों को राशन की बिक्री कर सकेंगे, अपने स्टाक की चेकिंग भी आसानी से कर सकेंगे। वही आधार कार्ड वेरिफिकेशन भी इसी मशीन से हो जाएगा, मशीन नेट से जुड़ा रहेगा। इस अवसर पर आपूर्ति निरीक्षक विनोद कुमार तिवारी, अक्षैबर गिरी, आजाद पाल, राधेश्याम, महेश कोटेदार ,रमेश यादव, आदि कई कोटेदार मौजूद रहे।कोटेदार संघ अध्यक्ष राधेश्याम सिंह ने कहाकि नियत सही हो तो कभी भी अनियमितता नहीं हो सकती, वैसै शासन के मंशा के अनुसार ई पास मशीनों के माध्यम से खाद्यान्न वितरण में अनियमितताओं पर अंकुश लगने पर सहायता मिलेगी।
एसडीएम मड़िहान सविता यादव ने कहा कि ई पास मशीनों से खाद्यान्न वितरण में अनियमितताओं की संख्या कम हो जाएगी।

=>