लखनऊ

यूपी कैबिनेट : प्रयागराज व अयोध्या मंडल समेत 10 प्रस्तावों को मंजूरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने मंगलवार को इलाहाबाद और फैजाबाद मंडल का नाम बदल कर प्रयागराज और अयोध्या मंडल करने के प्रस्ताव समेत 10 प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान कर दी है।
लोकभवन में सम्पन्न हुई मंत्रि परिषद की बैठक के बाद राज्य सरकार के प्रवक्ता व स्वास्थ्य मंत्री डा.सिद्धार्थनाथ सिंह के साथ प्रेस वार्ता में मौजूद नगर विकास मंत्री सुररेश ने बताया कि कैबिनेट बैठक में इलाहाबाद मंडल का नाम प्रयागराज मंडल करने और फैज़ाबाद जिले और मंडल का नाम अयोध्या जिला और अयोध्या मंडल करने का प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इन मंडलों में शामिल जिले वैसे के वैसे ही रहेंगे। सिर्फ इलाहाबाद और फैजाबाद जिले और मंडल के नाम में बदलाव किया गया है। उन्होंने बताया कि लखनऊ मेट्रो रेल-फेज 01 में आवश्यकतानुसार राजकीय पॉलिटेक्निक की 48.03 वर्ग मीटर ज़मीन लाग टर्म लीज़ पर लखनऊ मेट्रो के देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है। यह जमीन मेट्रो के आखिरी स्ेटशन के निर्माण के लिए दी गई है।
वहीं सरकार के प्रवक्ता व स्वास्थ्य मंत्री डा.सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि कैबिनेट में 15 अक्टूबर 2016 में वाराणसी में राजघाट पुल पर हुई भगदड़ में 25 लोगों की मौत पर आई जांच रिपोर्ट को सदन में रखने को मंजूरी दी है। उन्होंने बताया कि वित्तविहीन माध्यमिक स्कूलों में कार्यरत अध्यापको को मुख्यमंत्री पुरस्कार देने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली है। अब वित्तविहीन माध्यमिक स्कूलों में कार्यरत अध्यापकों को 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के मौके पर 25 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ऐसे 19275 स्कूल हैं। इसके तहत 18 मंडलों से एक-एक लोगों को 25-25 हजार पुरस्कार 25 दिसम्बर को अटल जयंती पर दिया जाएगा। 15 वर्ष की नियमित सेवा शिक्षक के लिये और 20 वर्ष की नियमित सेवा प्रधानाचार्य के लिये अनिवार्य है।
प्रवक्ता ने बताया कि काशी विश्वनाथ मंदिर विशेष परिक्षेत्र के लिए 130 संपत्तियों के अधिग्रहण के प्रस्ताव को मंजूरी मिली है। काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लिये 130 भवन और अधिग्रहित किए जाएंगे। इससे पहले 166 भवनों का अधिग्रहण किया जा चुका है। इसके लिये 413 करोड़ का बजट रखा गया है, जिसमें 190 करोड़ स्वीकृत किया जा चुका है। आज शेष धनराशि भी पास कर दी गई है।
उन्होंने बताया कि बस्ती, बहराइच, फैज़ाबाद, फ़िरोज़ाबाद और शाहजहांपुर मेडिकल कालेज के संचालन के लिए समितियों के गठन प्रस्ताव को मंजूरी मिली है। मध्य प्रदेश, गुजरात और राजस्थान की तर्ज पर अब उत्तर प्रदेश में भी नए मेडिकल कॉलेज सोसाइटी मोड में चलेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में दो फेज में मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं। पहले फेज में बस्ती, बहराइच, फिरोजाबाद, फैजाबाद और शाहजहांपुर में मेडिकल कॉलेज हैं। ये नए मेडिकल कॉलेज सोसाइटी मोड में चलेंगे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री इसकी संचालन कमेटी के अध्यक्ष होंगे।
प्रवक्ता ने बताया कि कैबिनेट बैठक में मक्का की एमएसपी 1700 रुपए तय कर दी। इसके अलावा किसानों को 20 रुपए प्रति क्विंटल ढुलाई का भी दिया जाएगा। सरकार ने एक लाख मीट्रिक टन मक्का की खरीद का लक्ष्य रखा है। 20 जिलों में खरीद होगी। आयुक्त इसे जरूरत के हिसाब से अन्य जनपद तक बढ़ा सकते है। इसके लिए 2014.9 करोड़ रुपए बजट का प्रावधान किया गया है।
सिद्धार्थ नाथ ने बताया कि कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश के राज्य चिकित्सा महाविद्यालय सेवा नियमावली में में पांचवा संशोधन किया गया है। इसके तहत मेडिकल कॉलेजों में प्रवक्ता के पद को समाप्त कर दिया गया है। अब लोक सेवा आयोग से सीधी भर्ती असिस्टेंट प्रोफेसर की होगी। प्रवक्ता पद हट जाएगा।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com