विलेन बने हीरो के आतंक का अंत, वाहन सहित गुर्गे भी गिरफ्तार

विलेन बने हीरो के आतंक का अंत, वाहन सहित गुर्गे भी गिरफ्तारआरा(वसीम/अरुण ओझा)। लंबे समय से पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहा दहशत का पर्याय बन चुका कुख्यात मनीष उर्फ हीरो को भोजपुर पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। घटना पीरो थाना क्षेत्र के जितौरा बाजार एवं चतुर्भुजी बरांव गांव की है जहाँ मुठभेड़ में दोनों तरफ से कई चक्र गोलिया चलने के बाद भोजपुर पुलिस ने मनीष सिंह उर्फ हीरो को चतुर्भुजी बरांव गांव में मार गिराया है वही उसके दो साथी कुंदन और अभिषेक को गिरफ्तार कर लिया है जबकि उसका एक साथी अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल हो गया है। पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान मारे गए कुख्यात के शव को पोस्टर्माटम के लिए आरा सदर अस्पताल भेज दिया है। आपको बता दे कि बीते अगस्त माह में आरा मंडल कारा से तारीख पर पेशी के लिए सिविल कोर्ट लाया गया मनीष उर्फ हीरो हाथ से हथकड़ी सरका कोर्ट परिसर से फरार हो गया था जिसके बाद उसने 20 सितंबर को लगातार तीन जगहों पर फायरिंग की घटना को अंजाम दिया था इसी दौरान एक ट्रैक्टर शोरूम में एक कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसके बाद 21 अक्टूबर को नगर थाना क्षेत्र के इब्राहिम नगर स्थित एक ईंट भट्ठे पर रंगदारी की मांग करते हुए भट्ठे के मुंशी को गोली मार जख्मी कर दिया था। मूल रूप से भोजपुर जिले के बड़हरा थाना क्षेत्र के बड़हरा निवासी मनीष सिंह उर्फ हीरो बहुत ही कम दिनों में भोजपुर पुलिस सहित व्यपारी वर्ग के लोगो के लिए सिरदर्द बन चुका था। पीरो थाना क्षेत्र के जितौरा बाजार पर पुलिस एवं हीरो के बीच हुए इस मुठभेड़ को लेकर दो तरह की चर्चाय हो रही है जहाँ एक तरफ भोजपुर पुलिस कप्तान आदित्य कुमार को पीरो थाना क्षेत्र में मनीष उर्फ हीरो के आने एवं अपराधिक घटना को अंजाम देने की मिली गुप्त सूचना पर घेराबंदी के बाद मुठभेड़ की चर्चा है तो वही दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश से अपहरण जैसी आपराधिक घटना को अंजाम देकर बुलेरो से भाग रहे हीरो एवं उसके गुर्गों का पीछा कर रही उत्तर प्रदेश की पुलिस एवं छठ पूजा को लेकर जितौरा बाजार में विधि व्यवस्था की निगरानी कर रही पीरो डीएसपी रेशु कृष्णा के बीच खुद को फसता देख फायरिंग शुरू कर दी और बुलेरो से उतर कर अलग-अलग दिशा में भाग निकले जिसका जवाब पुलिस ने भी फायरिंग से दिया। कुछ देर चले इस मुठभेड़ में पुलिस ने उसके दो गुर्गों को काबू में कर लिया जिसने मनीष उर्फ हीरो की पहचान छोटे बाल और कान में कुंडल के रूप में दी जिसके बाद पुलिस ने चतुर्भुजी बरांव गांव में घेरा बंदी कर उसे मार गिराया है हालांकि खबर लिखे जाने तक इस पूरे घटनाक्रम की आधिकारिक पुष्टि नही हो सकी है।

=>