अस्पताली कूड़े कचरे का निर्धारित स्थान पर प्री ट्रीटमेंट अनिवार्य । डॉ मालिनी

लखनऊ ।  किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के यूनिवर्सिटी एन्वॉयरमेंट विभाग द्वारा आयोजित आज इंडियन सोसाइटी ऑफ हॉस्पिटल मैनेजमेंट की 18 वी कॉन्फ्रेंस के अन्तिम दिन प्रथम सत्र में सफदरजंग हॉस्पिटल , दिल्ली से आयीं डॉ मालिनी कपूर ने बायोवेस्ट मैनेजमेंट पालिसी के बारे में बताया कि 2016 व 2018 में पारित नियमो के अनुसार सभी प्रकार के अस्पताली कूड़े कचरे का निर्धारित स्थान पर प्री ट्रीटमेंट अनिवार्य है।
डॉ कपूर ने वेस्ट ट्रैकिंग सॉफ्टवेयर का डिमांस्ट्रेशन दिया जो अब अस्पताली कूड़े के निष्पादन केलिए कानूनी रूप से अनिवार्य हो गया है।
इस अवसर पर नेपाल से आये डॉ महेश ननकर्णी ने उनके देश मे बायो फ्यूल बनाने की अनोखी तकनीक के बारे में चर्चा करते हुए बताया कि ह्यूमन वेस्ट जैसे प्लेसेन्टा इत्यादि को जलाकर कम लागत में बिना किसी दुष्प्रभाव के बायो फ्यूल बनाया जाता है। जिससे आय का स्रोत भी बनता है।
डॉ परवेज ने बताया कि ये सेमिनार जिन उद्देश्यों को लेकर आयोजित किया गया उसमे सफल रहा।
डॉ परवेज के मुताबिक जो कुछ भी प्रतिभागियों ने यँहा पर सीखा वह उनके अस्पतालों एव समाज के लिए उपयोगी साबित होगा। इस कार्यशाला में डॉ अनुपमए डॉ हिमांशु , डॉ कीर्ति आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

ये रहे प्रतिभागी

इस दौरान डॉ के.के सावलानी ने क्विज ओर पेपर प्रजेंटेशन को आयोजित किया ।जिसमें डॉ सावलानी ने बताया कि इन प्रतियोगिता में डॉ श्वेता जायसवाल , डॉ, रुचिए ,डॉ डिंपी सिंह , डॉ गौरव गुप्ता , डॉ खान मुस्तफा , डॉ अरविंद इत्यादि  प्रतिभागी रहे ।

=>