Main Sliderराष्ट्रीय

रक्षा निर्माण के क्षेत्र में साझेदारी को मजबूत करेंगे भारत-अमेरिका : सीतारमण

वाशिंगटन। भारत और अमेरिका के बीच सितंबर में नयी दिल्ली में हुई टू प्लस टू वार्ता के सफल परिणामों की बदौलत दोनों देश रक्षा क्षेत्र में आपसी सहयोग को और अधिक मजबूत करेंगे।
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने यहां सोमवार को पेंटागन में अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस के साथ मुलाकात कर दोनों देशों के बीच रक्षा साझेदारी बढ़ाने को लेकर चर्चा की। श्रीमती सीतारमण का पेंटागन में स्वागत करने के बाद श्री मैटिस ने भारत की सामरिक स्वायत्तता की मांग की ओर इशारा करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच बढ़ती साझेदारी से पता चला है कि सामरिक स्वायत्तता और रणनीतिक साझेदारी के बीच कोई अंतर नहीं है। अमेरिकी रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी एक वक्तव्य में श्री मैटिस ने कहा, मैं दक्षिण एशिया के अलावा दुनिया में शांति एवं सुरक्षा को बढ़ावा देने में भारत के नेतृत्व को लेकर अमेरिका की ओर से की गयी प्रशंसा को दोहराता हूं। दोनों देशों के रक्षा एवं विदेश मंत्रियों के बीच हुई टू प्लस टू वार्ता रक्षा साझेदारी को मजबूत करने को लेकर हमारी प्रतिबद्धता को स्पष्ट करती है।
अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा कि सितंबर में हुई मंत्री स्तरीय वार्ता से हमें संचार एवं सुरक्षा समझौतों को लागू करने में मदद मिली है। टू प्लस टू वार्ता से सुरक्षित समृद्ध एवं स्वतंत्र भारत-प्रशांत क्षेत्र के हमारे साझा दृष्टिकोण का पता चलता है, जिसमें सभी देशों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की भावना को अहम माना गया है।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button