कंप्यूटरीकृत फ्रैंकिंग मशीन से जुड़ा कैमूर व्यवहार न्यायालय- एआईजी निबंध

मूर। व्यवहार न्यायालय स्थित पुराने फ्रैंकिंग मशीन के स्थान पर कंप्यूटरीकृत प्राणीली आधारित ई टाइपिंग के माध्यम से न्यायिक मुद्रांक विक्री हेतु कंप्यूटरीकृत मशीन का गुरुवार को सहायक निबंधन महानिरीक्षक पटना प्रमंडल सुशील कुमार सुमन, जिलाधिकारी कैमूर नवल किशोर चौधरी, प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश राम रंग तिवारी, जिला निबंधन पदिधिकारी तारकेश्वर पांडेय द्वारा संयुक्त रूप से उद्घाटन किया गया ।

इस अवसर पर एआईजी निबंधन सुशील कुमार सुमन ने कहा कि इस प्रणाली से फेक स्टांप इस्तेमाल पर रोक लगेगी एवं स्टांप की हो रही परेशानियां दूर हो होगी और आम लोगों को सुलभ और सरल तरीके से मुद्रांक आसानी से मिलेगा यहां मौजूद न्यायिक पदाधिकारीगण एवं अधिवक्तागण इस मशीन लगने से पर केंद्र एवं बिहार सरकार को साधुवाद दिया है ।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper