सण्डीला, इंसानियत की बड़ी मिसाल थे हज़रत साग़र मियां सन्दीलवी

सण्डीला।हरदोई सम्प्रदायिक एकता की मिसाल मख़्दूम साहब  दरगाह के वली ए कामिल  ख़ानदाने फातमी के बुज़ुर्ग हज़रत मखदूम सय्यद अलाउद्दीन वास्ती के चश्म ओ चराग़ हज़रत सय्यद शरफ उद्दीन अहमद साग़र मियां हसनी हुसैनी के बारवें यौम ए वफ़ात के अवसर पे दरगाह हज़रत साग़र मियां में “अज़्मते औलिया कॉन्फ्रेंस”का आयोजन तहरीक़ परचमें मोहम्मदी के अध्यक्ष फरीद उद्दीन अहमद की अध्यक्षता में किया गया।इस अवसर पर फरीद उद्दीन अहमद ने कहा कि सूफ़िज़्म क्या है इसपे खरा उतरना साग़र मियां बखूबी जानते थे ।उन्होने फ़रमाया था कि हर कोई सूफी लिखने से सूफी नही हो जाता। सूफ़िज़्म की शिक्षा पे अमल करने वाला ही सूफी हो सकता है।उन्होने कहा कि साग़र मियां ने ख़ानदाने मखदूमियां की रवायत को आगे बढ़ाने का काम हमेशा किया। वह सही मायनो में सूफी बुजुर्ग थे।मुख्य अतिथि अन्जुमन मुफ़ीदुल मुस्लिमीन के अल्लामा मौलाना यामीन ने कहा कि औलिया ए कराम अल्लाह के दोस्त हैं।और अल्लाह इनकी बात को रद्द नही करता, इसलिए औलिया कराम की दरगाहों पर हर धर्म के लोगो का जमावड़ा रहता है।कानपुर से आये विशिष्ठ अतिथि क़ारी मोहम्मद अहमद वारसी ने कहा कि ख़ानदाने मखदूमियां के चश्म ओ चराग़ पीर सय्यद साग़र मियां आज हमारे दरमियां नहीं हैं।लेकिन उनके द्वारा की गई तमाम धर्मिक सामाजिक व इंसानियत की खिदमात को भुलाया नहीं जा सकता।अन्जुमन तरक़्क़ी उर्दू के संयोजक /सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल वली ने कहा कि साग़र मियां द्वारा समाजिक हित में किये कार्यों को भुलाया नही जा सकता।वह सूफी बुजुर्ग के साथ ही फार्सी, उर्दू के नामवर शायर के साथ ही  उर्दू अंजुमन तरक़्क़ी सण्डीला कमेटी के संरक्षक रहे। दरगाह के सज्जादह नशीन मुईज़ उद्दीन अहमद सागरी चिश्ती ने हज़रत साग़र मियां के जीवन पर चर्चा करते हुये उन गुज़रे हुये पलों को याद  किया।इसके अलावा माईनॉरटीज़ वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष अब्दुल ख़ालिक़ सिद्दीकी,साहित्यकार डॉ मोहम्मद हनीफ,शफी अहमद साबरी,इसरारुल हक़ मुन्ना साबरी,मास्टर सिद्दीक़,सुहैल सन्दीलवी, तौहीद अहमद ने हज़रत साग़र मियां के जीवन पे प्रकाश डाला,इस अवसर पर स्थानीय दरगाहों के सज्जादगाँन के अलावा बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।जलसा का संचालन इक़बाल अहमद ने किया।इस अवसर पे तहरीक़ परचमें मोहम्मदी कमेटी की ओर से नाअत,मनक़बत,पढ़ने के मुकाबलेे में कामयाब बच्चों को फरीद उद्दीन अहमद व अब्दुल वली के द्वारा बच्चों को इनमात वितरण किये गए।जिसमें पहला इनाम खुर्शीद महमूद को मिला,दूसरा इनाम इलमुननिशा,तीसरा इनाम रूहे साग़र को दिया गया।इसके अलावा 35 छात्र व छात्राओं को पुरस्कार वितरण किये गए।
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper