Main Sliderराष्ट्रीय

आज जीते, 2019 भी जीतेगें — राहुल

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के सेमीफाइनल के रूप में देखे जा रहे पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के रुझानों और नतीजे मिलने के बाद कांग्रेस पार्टी जश्न मना रही है। कांग्रेस ने लंबे समय बाद जीत का स्वाद चखा है। बीजेपी को करारी शिकस्त देते हुए कांग्रेस राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बढ़त हासिल करते दिख रही है। वहीं, मध्यप्रदेश में भी मुकाबला रोमांचक है। आज शाम को राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता कर कहा कि यह जीत कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं की है। उन्होंने कहा कि आज जीते है 2019 भी जीतेगें।

प्रश्न का उत्तर देते हुयें राहुल ने कहा सरकार का गठन होते ही किसानों का कर्ज माफ किसे जाने की प्रकिया शुरु कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में तेलंगाना में, मिजोरम में हमारी हार हुई। वहां जो जीते उन्हें मैं बधाई देना चाहता हूं। कार्यकर्ताओं आपने जो मुश्किल हालात में मेहनत की उसके लिए दिल से धन्यवाद। यह जीत किसानों की है, युवाओं की है, छोटे दुकानदारों की है। राहुल गांधी ने कहा कि अब बदलाव का समय है। राहुल ने कहा कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ में हमने बीजेपी को हरा दिया है और उम्मीद है कि मध्यप्रदेश में भी हमारी जीत होगी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम ने रोजगार का जो वादा किया था, वह टूट गया है, वह पूरा नहीं हुआ। किसानों के साथ जो वादा किया गया था वह भी टूटा है। उन्होंने कहा कि हम जहां जीते हैं, वहां ऐसी सरकार देंगे उसपर लोग गर्व करेंगे। राहुल ने कहा कि मुख्यमंत्री कौन बनेगा यह बड़ा मुद्दा नहीं है। इसे आसानी से सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में कांग्रेस का उभरना बीजेपी के लिए मुश्किल है।

बता दें कि राजस्थान में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के बारे में अंतिम फैसला अध्यक्ष राहुल गांधी अपने विधायकों व वरिष्ठ नेताओं की राय जानने के बाद करेंगे। पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने बताया, जयपुर में ‘कांग्रेस विधायक दल की बैठक 11 बजे प्रदेश मुख्यालय में होगी। पार्टी के नवनिर्वाचित विधायक प्रस्ताव पारित करेंगे, जिसके बाद पर्यवेक्षक विधायकों की व्यक्तिगत राय लेंगे।

उन्होंने कहा कि विधायकों की राय से कांग्रेस के अध्यक्ष को अवगत कराया जाएगा। इसके बाद कांग्रेस विधायक दल की शाम को पुन: बैठक होगी। मुख्यमंत्री पद के लिए पार्टी के नाम की घोषणा दूसरी बैठक में ही की जाएगी। उन्होंने कहा कि बैठक में सीएलपी नेता के नाम के साथ ही अन्य मुद्दों पर चर्चा होगी। मुख्यमंत्री पद के दावेदार माने जा रहे अशोक गहलोत व सचिन पायलट ने इस अवसर पर हाथ मिलाए और जीत का निशान बनाया। जयपुर पहुंचे पार्टी के पर्यवेक्षक के सी वेणुगोपाल ने कहा, ‘हम हर विधायक की व्यक्तिगत राय लेंगे और पार्टी आलाकमान को सूचना दी जाएगी. तय परंपरा के अनुसार पार्टी आलाकमान ही राज्य में नेतृत्व का फैसला करेगा।

loading...
Loading...

Related Articles