भाजपा सांसद अंशुल वर्मा ने सीएम योगी को लिखा पत्र, कहा- हरदोई में पार्टी विरोधी हैं नरेश अग्रवाल की गतिविधियां

हरदोई। भारतीय जनता पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने यूपी के हरदोई जिला में पासी सम्मलेन के दौरान खाने के लंच पैकेट में देशी शराब की शीशी एक धार्मिक स्थल पर बांटवा दी। ये शराब के पौवे बड़े और बुजुर्गों के साथ ही नाबालिग बच्चों को भी बांटे गए। इस मामले ने तूल पकड़ लिया तो शराब वितरण से नाराज सदर सांसद अंशुल वर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है। सांसद ने पत्र के जरिये कहा है कि शराब का वितरण उनके समाज के लिए गलत और निंदनीय है। पार्टी विरोधी गतिविधियों को पार्टी गम्भीरता से ले अन्यथा हमें सड़क पर उतरना पड़ेगा। सांसद ने कहा यदि प्रकरण पर अधिकारियों की लापरावही है तो उन पर भी कड़ी कार्यवाई की जानी चाहिए।

“मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे गए पत्र में सांसद अंशुल वर्मा ने कहा है कि 6 जनवरी 2019 को मेरे संसदीय क्षेत्र (लोक सभा) हरदोई के प्राचीन धार्मिक स्थल श्रवण देवी मंदिर में भाजपा नेता नरेश अग्रवाल द्वारा आयोजित पासी सम्मेलन के दौरान उपस्थित क्षेत्रवासियों को नाबालिग बच्चों के मध्य लंच पैकटो में शराब की शीशी का वितरण किया है। यह अत्यंत दुखद है कि जिस संस्कृत की हमारी पार्टी दुहाई देती है।

हमारे नवआगंतुक सदस्य नरेश अग्रवाल उस संस्कृति को भूल गए हैं।यह और भी दुख की बात है कि उसी समाज में मैं भी सांसद चुनकर आया हूं और मैं हमेशा ही अपने समाज को नशे जैसी को कुप्रवत्तियों से दूर रहने हेतु जागरूक करता रहता हूं। आज जब हमारी सरकार धर्म में आस्था दिखा रही है एवं देश के अंतिम व्यक्ति को देश की मुख्यधारा में लाने हेतु प्रयासरत है। ऐसे समय में नरेश अग्रवाल द्वारा हमारे पासी समाज का उपहास करते हुए जनपद के प्रख्यात शक्तिपीठ में शराब बांटने जैसा निंदनीय कार्य किया है। यदि इस प्रकार की पार्टी विरोधी गतिविधियों को पार्टी द्वारा गंभीरता से नहीं लिया गया तो हमारे समाज के हितार्थ चाहे सड़क पर उतरना पड़े उनके सम्मान के साथ समझौता नहीं किया जाएगा। यदि इस प्रकरण में प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही साबित होती है तो पार्टी द्वारा उनके विरुद्ध भी कठोर विभागीय कार्यवाही करने की कृपा करें।”

=>