आचार्य चन्द्रबलि पांडेय की आदमकद प्रतिमा लगाये जाने की मांग

आजमगढ़। हिन्दी के प्रख्यात विद्वान व रचनाकार आचार्य चन्द्रबलि पांडेय की सठियांव चौराहे पर आदमकद प्रतिमा लगाये जाने की मांग लेकर अखिल भारत वर्षीय ब्राह्मण महासभा के प्रदेश अध्यक्ष बृजेश कुमार दुबे के नेतृत्व में शुक्रवार को जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया।
प्रदेश अध्यक्ष बृजेश कुमार दुबे ने बताया कि आचार्य चन्द्रबलि पांडेय आजमगढ़ के साहित्यिक क्षेत्र में उत्कृष्ट रचनाकार थे। उनका जन्म सठियांव के नसीरूद्दीनपुर (चन्द्रबलीपुर) गांव में 24 अप्रैल 1904 में हुआ था। आचार्य जी के जयंती पर बीते 2006 में केंद्र सरकार द्वारा डाक टिकट जारी कर पूरे क्षेत्र का मान बढ़ाने का कार्य किया गया था। उस समय भी महासभा द्वारा इनकी आदमकद प्रतिमा स्थापित किये जाने की मांग उठायी गयी थी लेकिन आज तक इसे उपेक्षित रखा गया। श्री दुबे ने मांग किया कि आचार्य जी के जयंती 24 अप्रैल के पूर्व सठियांव चौराहे पर आचार्य जी की आदम कद प्रतिमा स्थापित करायी जाये ताकि इनसे प्रेरणा लेकर क्षेत्रवासी साहित्यिक जगत में भी नाम गौरवान्वित करने का काम करें।
डा संजय द्विवेदी ने कहा कि साहित्य के पुजारी की स्मृति में प्रतिमा के साथ-साथ पुस्तकालय जैसी संस्थाओं की स्थापना कराया जाना चाहिए। ताकि आगामी पीढ़ियों इन्हें आत्मसात करने का काम करें। उन्होंने शीध्र ही प्रतिमा स्थापित कराये जाने की मांग उठायी।
इस अवसर पर रणविजय, राहुल उपाध्याय, राजेश कुमार, महंत गिरजाशंकर तिवारी, सतीश पांडेय, विपुल, आशुतोष, राकेश, केशव, एसपी, शिवगोविन्द, सौरभ उपाध्याय आदि लोग मौजूद रहे।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com