स्वास्थ्य परीक्षण करने पहुंची डाक्टरों की टीम पर सिपाही ने किया हमला

कानपुर। बिधनू थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुल्हौली गांव के प्राथमिक स्कूल में बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करने पहुंची डाक्टरों की टीम पर पुलिस में सिपाही प्रधान पति ने निर्माणाधीन इंटरलॉकिंग के ऊपर से गुजरने पर आधा दर्जन लोगों संग हमला कर दिया। चालक का पत्थर से सिर फोडऩे के साथ ही तीन नर्सों से अभद्रता कर दी। डाक्टरों ने आरोपी सिपाही के खिलाफ तहरीर दी है। साथ ही डाक्टरों सीएचसी की ओपीडी बंद कर गिरफ्तारी की मांग को लेकर नारेबाजी की।
बिधनू कुल्हौली गांव के प्राथमिक स्कूल में ग्राम पंचायत की ओर से इंटर लॉकिंग का काम चल रहा है। जिसकी देख रेख छुट्टी पर घर आए फतेहपुर अमौली में सिपाही पद पर तैनात प्रधान स्वाति सिंह के पति सोनू सिंह कर रहे हैं। शुक्रवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिधनू से डॉ गौरव त्रिपाठी, डॉ शशिकांत मिश्र, डॉ अभिषेक गुप्ता, डॉ अमित कुमार समेत तीन स्टाफ नर्स कुल्हौली गांव प्राथमिक स्कूल स्वास्थ्य परीक्षण के लिए पहुंची। डाक्टरों के मुताबिक स्कूल परिसर में इंटर लॉकिंग का काम चल रहा था। जिसकी वजह से टीम ने स्कूल के बाहर कार खड़ी कर पैदल इंटर लॉकिंग के ऊपर से परिसर में घुसे। तभी प्रधान पति सोनू सिंह ने इंटर लॉकिंग के ऊपर से निकलने पर डाक्टरों को गालीगलौज शुरू कर दी।
डाक्टरों और चालक पवन गुप्ता ने विरोध किया तो सिपाही ने आधा दर्जन लोगों संग मिलकर टीम से मारपीट शुरू कर दी। जिसमें आरोपी सिपाही ने चालक पवन के सिर पर पत्थर मार कर लहूलुहान कर दिया। साथ ही टीम संग नर्सों से भी अभद्रता की। डाक्टरों टीम ने कंट्रोल रूम पर सूचना देने के बाद थाने में आरोपी सिपाही के खिलाफ तहरीर दी। वहीं घटना से नाराज सीएचसी के डॉक्टरों ने आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ओपीडी बंद कर नारेबाजी शुरू कर दी। इंस्पेक्टर द्रविण कुमार सिंह के कार्रवाई का अश्वाशन देने पर डॉक्टर शांत होकर फिर से ओपीडी शुरू की। इंस्पेक्टर ने बताया कि डाक्टरों की तहरीर पर सरकारी काम में बाधा,मारपीट,गाली गलौज की धाराओं पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।

=>