स्वामी विवेकानंद के योगदान हमेशा याद रखे जाएंगे : योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती पर प्रदेशवासियों एवं विशेष रूप से युवाओं को बधाई दी है। उन्होंने विवेकानन्द के अतुलनीय योगदान को याद करते हुए कहा कि एक युवा सन्यासी के रूप में भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता की महक विदेशों तक बिखेरने वाले स्वामी जी साहित्य, दर्शन और इतिहास के प्रकाण्ड विद्वान थे। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती को ‘राष्ट्रीय युवा दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।
आज यहां जारी एक बधाई संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि 25 वर्ष की आयु में सन्यास ग्रहण करने वाले स्वामी विवेकानन्द का जन्म कोलकाता में 12 जनवरी, 1863 को हुआ था। संत रामकृष्ण परमहंस के मुख्य शिष्य के रूप में उन्होंने भारत के आध्यात्मिकता से परिपूर्ण दर्शन को विश्व जगत के समक्ष पूरी तार्किकता एवं अकाट्य प्रमाणों के साथ प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानन्द के योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।
योगी ने युवाओं से स्वामी विवेकानन्द के भाषणों एवं लेखन को अधिक से अधिक पढ़ने तथा उनके बताए हुए रास्ते पर चलने आह्वान किया है।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com