बसपा-सपा गठबंधन अस्तित्व बचाने की आतुरता : भाजपा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शनिवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) के गठबंधन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने अस्तित्व बचाने की आतुरता में किया गया प्रयास बताया। भाजपा की राष्ट्रीय परिषद के दूसरे दिन यहां संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, “बसपा और सपा का गठबंधन उनके अस्तित्व के लिए है। यह देश या उत्तर प्रदेश की भलाई के लिए नहीं है।“

प्रसाद ने कहा कि पार्टियां जानती हैं कि वे मोदी से नहीं लड़ सकतीं और इसलिए उन्होंने गठबंधन बनाया।

प्रसाद की यह प्रतिक्रिया बसपा प्रमुख मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव द्वारा लखनऊ में एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन की घोषणा के बाद आई है। गठबंधन के अनुसार, दोनों दल उत्तर प्रदेश की कुल 80 सीटों में 38-38 सीटों पर लड़ेंगे। गठबंधन से बाहर रखी गई कांग्रेस के लिए दो सीटें -राय बरेली और अमेठी- छोड़ दी गईं हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के दावे को दोहराते हुए प्रसाद ने कहा कि भाजपा आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 74 सीटें जीतेगी।

कांग्रेस पर राष्ट्रीय सुरक्षा से खेलने का आरोप लगाते हुए प्रसाद ने 2019 के आम चुनाव को स्थिरता और अस्थिरता के बीच का चुनाव बताया।

उन्होंने कहा कि देश को यह निर्णय लेना है कि उन्हें कमजोर प्रधानमंत्री की जरूरत है या मजबूत प्रधानमंत्री की।

loading...
=>