Main Sliderउत्तर प्रदेश

सपा-बसपा गठबंधन से भाजपा का ‘मेरा बूथ, हुआ चकनाचूर’ : अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि सपा-बसपा की एकजुटता से राजनीति को नई दिशा मिली है, जिससे न केवल भाजपा का शीर्ष नेतृत्व व पूरा संगठन बल्कि कार्यकर्ता भी चुनाव के पूर्व ही हिम्मत हार बैठे हैं। उन्होंने कहा कि जहां सपा-बसपा गठबधंन से देश में गरीबों, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों में अपने सम्मान की रक्षा का नया विश्वास पैदा हुआ है, वहीं निराश-हताश भाजपा नेता-कार्यकर्ता अस्तित्व को बचाने के लिए बेचैन हैं।
अखिलेश ने आईपीएन से कहा कि सपा-बसपा के साथ आने से भाजपा के बूथ कार्यकर्ता अब कह रहे हैं कि ‘मेरा बूथ हुआ चकनाचूर‘। ऐसे निराश-हताश भाजपा नेता और कार्यकर्ता अपने अस्तित्व को बचाने के लिए अब नया ठौर-ठिकाना खोजने में ही अपनी खैर समझते हैं। अब भाजपा के पन्ना प्रभारी बेचैन हैं, और सत्ता परिवर्तन के डर से भयभीत हैं।
उन्होंने कहा कि जनता ने भाजपा से तौबा कर ली है। भाजपा सरकार ने न सिर्फ किसानों बल्कि अपने कार्यकाल में बेरोजगारी, मंहगाई बढ़ाने और नोटबंदी-जीएसटी जैसी योजनाओं से लोगों को त्रस्त और पस्त करने का काम किया है। यही नहीं भाजपा ने सामाजिक सद्भाव को न सिर्फ आहत किया है बल्कि समाज में दूरी पैदा करने और नफरत का जहर बोने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने दस प्रतिशत कारपोरेट समाज को ही समृद्ध और शक्तिवान बनाकर शेष भारत के भविष्य को अंधकारमय बनाया है। अखिलेश ने कहा कि जनता ने अब सपा-बसपा के नेतृत्व में प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों पर भाजपा को हराने और गठबंधन को जिताने का मन बना लिया है। भाजपा ने लोकतंत्र को जितनी चोट पहुंचायी है, जनता उतना ही चुन-चुन कर उससे हिसाब करेगी।

loading...
Loading...

Related Articles