मायावती से मिले तेजस्वी यादव, बुके दिया पैर छुए और दी जन्मदिन की बधाई

लखनऊ। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सोमवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे। यहां उन्होंने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती से मुलाकात की। तेजस्वी ने मायावती को बुके भेंट किया और पैर छू कर उनसे आशीर्वाद लिया। तेजश्वी ने मायावती को जन्मदिन की अग्रिम बधाई दी है। बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की मुखिया मायावती आम तौर पर सोशल मीडिया से दूर रहती हैं। उनकी पार्टी से जुड़े लोग भी उनके साथ की तस्वीरें सोशल मीडिया में शेयर करने से परहेज करते हैं। ऐसे में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मायावती का आशीर्वाद लेते हुए तस्वीरें अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट की हैं।

ट्विटर पर लिखी ये बात
तेजस्वी यादव ने मायावती को बुके देते हुए, उनके पैर छूते हुए और साथ में खड़े होकर तस्वीरें पोस्ट की हैं। उन्होंने लिखा है, ‘उस शख्सियत को गर्मजोशी से जन्मदिन की अग्रिम बधाई। उन्होंने अपने जीवन में जो कुछ भी अचीव किया है, उसके लिए वह इस सम्मान की पात्र हैं।’ उन्होंने इसके आगे लिखा ‘जब हम बड़ों के मार्गदर्शन में बड़े होते हैं तो वे हमें सिखाते हैं। मैं माननीय मायावती जी को उनके जन्मदिन (15 जनवरी) की शुभकामनाएं देता हूं। वह खुश रहें, सफल हों और उनकी उम्र लंबी हो। जन्मदिन की शुभकामनाएं!’ बता दें कि सोशल प्लैटफॉर्म से दूर रहने वालीं मायावती के साथ या पैर छूते हुए तस्वीरें शेयर करने से हर कोई दूरी बनाकर रखता है। यह दूसरी बार है जब किसी ने मायावती का पैर छूते हुए तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की है। इससे पहले बीएसपी की एक नेता ने ऐसा किया था, जिसके बाद उन्हें मायावती की नाराजगी उठानी पड़ी थी।

फोटो शेयर करने पर कट गया था महिला नेता संगीता चौधरी का टिकट
बता दें कि 2016 में बीएसपी की एक नेता ने मायावती के पैर छूते हुए तस्वीरें अपने फेसबुक पर शेयर की थीं। महिला नेता संगीता चौधरी यूपी की अतरौली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही थीं। उनका टिकट फाइनल था, लेकिन मायावती के साथ तस्वीरें शेयर करना उनके ऊपर भारी पड़ गया और उनका बीएसपी से टिकट काट दिया गया। मायावती से मिलकर निकले तेजस्वी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिलेगी। बीएसपी और एसपी का गठबंधन ही सारी सीटों पर जीतेगा। उन्होंने कहा कि उनके पिता और आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव भी यही चाह रहे थे कि बीजेपी को हराना है तो बिहार की तरह ही क्षेत्रीय पार्टियों का गठबंधन जरूरी है।

=>