ब्रॉडसन कंपनी ने खोद दिया हैं मौत का कुँआ , कार्रवाई के जगह प्रशासन उठाएँगी हज़ारों की अर्थी

>> बालू खनन के लिए सोन नदी के सुरक्षा बांध (तटबंध) को जेसीबी से काटकर कर दिया गया है समतल
>> स्थल जांच कर करेंगे कार्रवाई ,ब्रॉडसन कंपनी को भेजी जाएगी नोटिस – जिला खनन पदाधिकारी
>> सुरक्षा (तटबंध)  को काटना गैर कानूनी ,अंचलाधिकारी को कार्रवाई के लिए दिया गया हैं निर्देश -एसडीओ
रवीश कुमार मणि
पटना(अ सं) । जिस टहनी पर बैठे हैं वह टहनी काटने पर इंसान को खुद नुकसान होता हैं ।यह कहावत आपने बचपन से ही सुनने को मिलते आया हैं । कुछ ऐसी ही स्थिति पटना जिले के पालीगंज अनुमंडल का हैं । बालू खनन करने के लिए उदयपुर गांव स्थित सोन नदी के सुरक्षा बांध ( तटबंध)  को ब्रॉडसन कंपनी ने दर्जनों जगहों पर जेसीबी से काटकर मौत का कुंआ खोद दिया हैं और सारे स्थिति की जानकारी के बाद प्रशासन कार्रवाई के नाम पर चुप्पी साधे बैठी हैं।

सोन नदी से बालू खनन करने का ठेका ब्रॉडसन कंपनी को मिला हुआ हैं। खनन विभाग के शर्तों की मानें तो बालू निकासी के लिए किसी तरह से सोन नदी के तटबंध या प्राकृतिक संपदा को नुकसान नहीं पहुंचाने के लिए आदेश दिया गया हैं । शर्तों में यह भी लिखा है की अगर सोन नदी के सुरक्षा बांध (तटबंध)  या प्राकृतिक संपदा को नुकसान पहुंचता हैं तो ठेका से वंचित करते हुये दोषी पाएं जाने पर कार्रवाई और दंड की वसूली की जाएगी ।

सीएम नीतीश कुमार ने बालू खनन करने वाली  ब्रॉडसन कंपनी के गलत नीतियों पर खुले मंच से सवाल खड़ा किया था की ब्रॉडसन कंपनी स्थानीय प्रशासन से मिलकर गलत कार्यों में लिप्त हैं । जिसका असर आम लोगों पर रहा हैं । ब्रॉडसन कंपनी निजी हाथों में ठेका दे दिया हैं यह गलत हैं ।

पटना जिले के पालीगंज थाना अंतर्गत उदयपुर गांव में बालू खनन के लिए सोन नदी के सुरक्षा बांध (तटबंध)  को जेसीबी से एक किलोमीटर के अंदर के दायरे में 15 जगहों पर काटकर जमीन के समतल कर दिया गया हैं । सुत्रों की मानें तो एक बालू घाट खोलने के लिए ब्रॉडसन कंपनी ने निजी लोगों से 10 -15 लाख रूपये ,सिक्युरिटी मनी के रूप में लिया हैं ।
सोन नदी का सुरक्षा बांध जो 15 जगहों पर काटा गया उसका खामियाजा यह होगा की जब सोन नदी में पानी का स्तर बढ़ेगी तो पालीगंज अनुमंडल का सैकड़ों गांव पानी में बह जाएगा ,अनुमंडल कार्यालय भी इससे अछूता नहीं रह पाएगा । आम लोगों का आर्थिक क्षति के साथ सैकड़ों ,हजारों की जान चली जाएगी ,इससे इंकार नहीं किया जाएगा ।सच तो यह हैं की बालू खनन करने वाली कंपनी ने मौत का कुंआ खोद दिया हैं और प्रशासन अर्थी उठाने का काम करेगी।
जिला खनन पदाधिकारी सुरेन्द्र कुमार सिंह ने कहां की ब्रॉडसन कंपनी को बालू खनन का ठेका प्राप्त हैं ।शर्तों का उल्लंघन हुआ हैं तो इसके लिए उक्त कंपनी दोषी हैं ।स्थल जांच के बाद, ब्रॉडसन को नोटिस किया जाएगा और कार्रवाई की जाएगी । वहीं एसडीओ, पालीगंज, सुरेंद्र प्रसाद ने कहां की सोन नदी के सुरक्षा बांध (तटबंध)  को काटना गैरकानूनी हैं ,अंचलाधिकारी को कार्रवाई के लिए निर्देश दिया गया हैं ।

=>